झूठी प्रेगनेंसी कैसे पहचाने | pregnant hone ke lakshan

इससे पहले आप कुछ सोचे, हां ये मुमकिन है झूठी Pregnancy होती है। लेकिन क्या होती झूठी Pregnancy ?





इसमें महिला या पुरुष ये विस्वास करने लगते की वे pragnant है। पर क्या सच ये pregnant होते हैं? 


बिल्कुल भी नहीं!


लेकिन क्या आप विश्वास करेंगे, Pregnancy na hone ke बावजूद, pregnant women जैसे pregnant hone ke lakshan इनमें देखने को मिलते है। मुझे पता है आपको अभी भी विस्वास नहीं!


लेकिन यकीन माने, मुझे भी नहीं हुआ था, जब मैंने false Pregnancy जिसे डॉक्टर पस्यूडिसेस ( pseudocyesis ) नाम देते, को पहली बार जाना! लेकिन आगे बढ़ने से पहले, आपको बता दूं हम यहां क्या-क्या देखने वाले हैं?


Pregnant hone ke lakshan, साथ ही pregnancy stages in hindi जिसमें pregnant hone ke बाद मां और बच्चे में हर सप्ताह कैसे बदलाव होते हैं, लेकिन शुरुआत false Pregnancy से:




 झूठी प्रेगनेंसी के कारण


Pregnancy-hone-ke-lakshan


हालांकि साइकोलॉजिस्ट भी false Pregnancy का कारण नहीं जानते, लेकिन इसके होने की वजह इंसानी दिमाग को बताया जाता है।


जिनमें false Pregnancy hone ke lakshan दिखते, वे किसी मानसिक बीमारी के शिकार रहते हैं। जैसे कि pregnancy ke liye kitni baar karne के बाद भी गर्भधारण ना कर पाना, ऐसी वजहों के कारण ये अपना मानसिक संतुलन खो देते:


जो फिर pregnancy ke liye kitni baar karne ट्राई करने के बावजूद गर्भ ना ठहरने पर false Pregnancy जैसे मानसिक बीमारी के रूप में दिखने लगता, और ये विश्वास करने लगते ये सच में प्रेग्नेंट है।


सबसे रोचक बात: यहां बस इन्हें ही विश्वास नहीं होता, बल्कि इनके इसी झूठे लेकिन बेहद ही पक्के विश्वास की वजह से इनका शरीर बिल्कुल उसी तरह प्रतिक्रिया देने लगता जैसे ये सच मे pragnant हो


उदाहरण 


मतलब की अगर इनका pregnancy test ना देख ले आप भी धोखा खा सकते है कि ये सच में pregnant हैं। बिल्कुल उसी तरह पेट निकलना, वजन बढ़ाना, period missed hona, कमजोरी सब कुछ!


झूठी Pregnancy hone ke lakshan लक्षण

Pregnant-hone-ke-lakshan



 पहले तो डॉक्टरों के पास भी इसकी सटीक जानकारी नहीं, की आखिर ये क्यों होते, क्या कारण है? और कैसे होते ? जिसकी वजह - जिन लोगों को ये बीमारी होती  कभी डॉक्टर के पास नहीं जाते।


इसी वजह से सही से रिसर्च नहीं किया जा सका है। लेकिन इनमें pregnant hone ke lakshan एकदम असली दिखते है। तो चलिए प्रेगनेंसी के लक्षण देखे जो false Pregnancy में भी देखने को मिलते:


दिखाई देने वाले 11 प्रेगनेंसी के लक्षण जो प्रेग्नेंट महिला में दिखते-

    1. पीरियड मिस होना प्रेग्नेंसी का सटीक लक्षण हैं
    2. स्तनों में भारीपन और सूजन
    3. बदन और सिर दर्द
    4. वेट बढ़ना
    5. क्रेविंग और भूख लगना
    6. मॉर्निंग सिकनेस
    7. निप्पल गहरा रंग का होना
    8. अत्याधिक पेशाब लगना
    9. शारीरिक तापमान बढ़ाना
    10. कब्ज की समस्या
    11. उल्टी और मतली प्रेग्नेंसी के लक्षण हैं

लेकिन ऐसा भी हो सकता, कुछ ही प्रेगनेंसी के लक्षण आपको देखने को मिले या सभी दिख जाए। आपकी जानकारी के लिए बता दूं:


अगर pregnancy test कराए, 90% केस में रिजल्ट नेगेटिव रहेगा, 10% इसलिए पॉजिटिव आता, क्योंकि शरीर उन हार्मोन का स्त्राव भी कर देता, जो सिर्फ pregnant women में होते हैं।


NOTE : इस तरह के प्रॉबलम बहुत रेयर होते है। इसलिए इनसे डरने की जरूरत नहीं, लेकिन जैसे की मैंने ऊपर वादा किया था, आपको pregnancy stages in hindi डिटेल में बताऊंगा। तो चलिए जाने:



  गर्भवास्था के तीन तिमाही : 3 stages of Pregnancy




निषेचन के बाद 12 सप्ताह गर्भवास्था की पहली तिमाही कहलाता हैं वहीं दूसरी तिमाही 13 से 27 सप्ताह के बीच को कहा जाता है। जिसके बाद तीसरी तिमाही 28 सप्ताह से लेकर शिशु के जन्म तक रहता है।


 पहली तिमाही 1 से 12 सप्ताह : pregnant hone ke lakshan 


पहली तिमाही में आपको प्रेग्नेंसी के बहुत सारे लक्षण दिखेंगें, शुरुआत period missed होने से होगा। फर्टिलाइजेशन बाद निषेचित अंडा गर्भाशय की दीवारों से चिपक जाएगा। आपका ओव्यूलेशन भी रुक जाएगा...


 1st trimester : शारीरिक और मानसिक बदलाव गर्भवती महिलाएं अनुभव करती


हार्मोनल बदलाव ही pregnant hone ke lakshan के कारण बनते, जिसे आपमें शारीरिक और मानसिक बदलाव होते है। प्रेगनेंसी के शुरुआत में आप महसूस करेंगी:


  • स्तनों में सूजन, निप्पल का गहरा रंग
  • अत्यधिक थकान
  • कब्ज
  • उल्टी जैसे लगना, मॉर्निंग सिकनेस
  • सर दर्द
  • तापमान बैंक
  • स्वभाविक सभा में बदलाव
  • वजन बढ़ाना
  • अत्याधिक खाने की इच्छा खासकर कुछ विशेष खाद्य पदार्थों के लिए



पहली तिमाही में आपकी डेली रूटीन


सबसे पहले pregnant hone ke lakshan मिलते ही आपकी दिनचर्या पूरी तरह बदल जाएगी, आप जल्दी सोने लगोगे, खाना अधिक खाने लगोगे


बहुत सी महिलाएं pregnancy me बहुत असुविधाये महसूस करती, तो बहुत को कुछ ज्यादा फर्क नहीं दिखता। यहां सभी pregnant महिलाओं को अलग अलग अनुभव होते हैं, यहां तक कि अगर आप दूसरी बार गर्भवती हुई है तब भी:


पहली तिमाही 4 सप्ताह का शिशु ( भ्रूण )





फर्टिलाइजेशन के बाद 4 सप्ताह तक भ्रूण बनने की शुरुआत हो चुकी रहती जिसमें -


शिशु का दिमाग विकसित हो रहा होता 

शिशु में दिल बनने लगता

हाथ और पैर की जगह निर्धारित हो जाती

यहां भ्रूण की लंबाई लगभग 1/25 इंच तक रहती 


8 सप्ताह का शिशु


Pregnancy में आठवें सप्ताह आते तक फर्टिलाइजड ऐग अब पूरी तरह भ्रूण में बदल चुका होता है। जो दिखने भी लगता है:


  • शरीरिक अंग बनने लगते
  •  शिशु का दिल भी धड़कने लगता
  • हाथ-पैरों की लंबाई बढ़ने लगती
  •  शिशु के जननांग बनने लगते
  • चेहरा अपना आकार लेने लगता 
  • यहां गर्भनाल दिखने लगता
  •  आठवें हफ्ते तक शिशु की लंबाई 1 इंच होती


12 सप्ताह का शिशु


इसी सप्ताह में pregnant hone ke baad की पहली तिमाही खत्म हो जाएगी, इस समय तक शिशु का विकास कुछ इस प्रकार रहता है-


 शरीर की कोशिकाएं और तंत्रिकाये कार्य करना शुरू कर देती

 जननांग भी बन जाते, यहां आप जान सकते  कि लड़का है या लड़की


आंखो की पलके बनना शुरू हो जाती, इसमें आंखे बंद हो जाती जो 28 हफ्ते के बाद ही खुलता है

 यहां शिशु की लंबाई 3 इंच तक रहती



दूसरी तिमाही 13 से 28 सप्ताह : pregnant hone ke lakshan 




दूसरी तिमाही में आते pregnancy आपके लिए बहुत आसान हो चुकी होगी, शारीरिक थकान, मॉर्निंग सिकनेस जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल गया होगा।


अब तो pregnancy में बेबी बंप ( शिशु बनने की वजह से आपका पेट भी बाहर निकल गया होगा ) और pregnant hone ke baad दूसरी तिमाही के अंत में शिशु मुठ्ठी के समान बढ़ा हो चुका होगा।


 प्रेग्नेंट होने के लक्षण शारीरिक और मानसिक बदलाव


दूसरी तिमाही में आप जो बदलाव महसूस करोगे:


  •  पेट, जांघों और कूल्हों के आसपास दर्द 
  •  पेट और जांघ और स्तनों में स्ट्रेच मार्क 
  • निप्पल का रंग गहरा 
  • चेहरे पर धब्बे - खासकर गाल, माथे, नाक और ऊपरी होंठ में
  • हाथ-पैरो में झुनझुनी
  • पेट, हाथ और तलवों में खुजली
  •  उंगलियों और एंकल में सूजन 


16 सप्ताह का शिशु


जैसे कि pregnancy ke lakshan रूप आपके बाहरी शरीर में बदलाव हो रहा होगा, अंदर शिशु भी विकसित हो रहा होगा


  •  शरीर के अन्दर की मासपेशियां अपना आकार लेने लगती
  •  बाहरी कोशिकाएं बनने लगती 
  • शिशु की आंत भी बनने लगती
  • शिशु की लंबाई 4 से 5 इंच तक


20 सप्ताह का शिशु 


Pregnancy का बीसवां सप्ताह आते, कुछ इस प्रकार के बदलाव देखने को मिलते


  • यहां शिशु हिल सकता
  • शिशु फंख सामान कवच से ढंक जाता जिसे lango कहते, और मोम से कवच को vernix 
  •  पलकें, उंगलियों और पैरो के नाखून बन चुके होते 
  • शिशु यहां सुन भी सकता है
  • लंबाई 6 इंच 



24 सप्ताह का शिशु


Pregnancy का 24 सप्ताह आने पर शिशु का विकास और तेज हो जाता है, जो कुछ इस प्रकार है-


  • शिशु के शरीर के बोन मैरो खून का निर्माण करने लगते
  • स्वाद के लिए tast bud भी आ जाते 
  • हाथों और पैरों के फिंगरप्रिंट बनने लगते 
  •  शरीर में बाल आने शुरू हो जाते 
  • फेफड़े भी बनने लगते, लेकिन अभी कार्य नहीं करते
  • अब तो बच्चे का रेगुलर स्लीप साइकिल होगा
  • बाहरी जन्नगो का विकास होने लगता
  • 12 इंच तक लंबाई


तीसरी तिमाही 29 से जन्म तक : pregnant hone ke lakshan 




तीसरी तिमाही pregnancy ke liye आखिरी तिमाही रहता, परंतु जिस तरह दूसरी तिमाही में आपको सुविधाएं होती थी, तीसरी तिमाही में भी साथ रहेगा। अब तो शायद आपको कुछ नए दिखने लगेंगे


जैसे शिशु विकसित हो रहा होगा, pregnancy ke lakshan रूप आपको आंतरिक अंगों में समस्या आने लगेंगी। सांस लेने में दिक्कत, बार बार पेशाब जाना, वैसे ये सब नॉर्मल है जो जन्म के बाद ठीक हो जाएगा।


 प्रेग्नेंट होने के लक्षण मानसिक और शारीरिक बदला


अब तो pregnant hone ke इस आखिरी तिमाही में आपको काफी बदलाव देखने को मिलेंगे, जैसे कि


  • चेहरे, उंगलियों और पैरों में सूजन
  • हेमोरॉयड्स
  • जन्म से पहले दूध आना
  • शिशु का गर्दन नीचे की तरफ झुकने लगेगा
  • कांट्रेक्शन
  • तापमान बढ़ना, सोने की समस्या, सांस का छोटा होना


32 सप्ताह में शिशु


Pregnancy me इस समय तक शिशु का विकास लगभग पूरा हो चुका राहत


  •  शरीर की हड्डियां, सॉफ्ट, लेकिन पूरी तरह बन चुके होंगे
  • हिलना, डुलना, लात मारना भी अधिक हो जाएगा
  • अब तो शिशु अपनी आंख भी खोल सकता 
  • फेफड़े पूरी तरह बन चुके होंगे, लेकिन कार्य नहीं कर रहे होंगे
  • शिशु आपके शरीर से पोषक तत्व भी ले रहा होगा
  • शरीर में भी बाल आ गए होंगे
  • शिशु की लंबाई 15 से 17 इंच


36 सप्ताह


Pregnant hone से जन्म तक शिशु का विकास होता रहता


  • शिशु की सुरक्षा के लिए बने मोम सा कवच मोटा होने लगता
  • शरीर में फैट बढ़ने लगता
  • शिशु के बढ़ने के साथ हिलने के लिए जगह   कम पड़ने लगती
  • लंबाई 16 से 19 इंच


 40 हफ्ते का शिशु


अब तक शिशु का विकास पूरी तरह हो चुका होगा, और जन्म के लिए तैयार होगा।


  • 37 सप्ताह के अंत शिशु पूरी तरह विकसित हो चुका रहता है
  • शरीर के अंग अब कार्य करने के लिए सक्षम होते हैं
  • जैसे ही जन्म का समय नजदीक आता, शिशु का सिर नीचे की ओर हो जाएगा
  • लंबाई 19 से 21 इंच रहती है।


आशा है आपको pregnant hone ke lakshan के बारे जो जानना था वो मिल गया होगा। यहां हमने false Pregnancy और pregnancy stages in hindi भी देखे जो आपका जानना जरूरी था।


और नया पुराने