जादुई तरीके: पेट में लड़का या लड़की जानने के - गर्भ में लड़का या लड़की पहचानने के 21 उपाय

क्या लगता है आपको, पेट में लड़का है या लड़की कितने तरीके से जान सकते हैं - अल्ट्रासाउंड, शायद आप सोच रहे होंगे... क्यों??  विज्ञान जगत की एक अद्भुत रचना, जिससे गर्भ में शिशु का विकास दर देखा जाता है फलस्वरुप पेट में लड़का है या लड़की जान सकते है...


परन्तु मात्र यही एक तरीका नहीं - विज्ञान, ज्योतिषी शास्त्र, और पुरानी माओ के खुफिया तरीके भी ऐसे हैं जो अपको पेट में लड़की है या लड़का जानने में मदद कर सकते हैं

 

अक्सर गर्भवतियों के मन मेंं इस तरह  सवाल - कैसे पता लगाएं कि पेट में लड़का है या लड़की अनजाने अथवा जानबूझकर (जिज्ञासा) से आ ही जाते हैं जिसके चलते कई बार वे गलत कदम भी उठा लेती है जो शिशु और गर्भवती दोनों के लिए हानिकारक रहता हैं


अत: इस लेख में हम कैसे पता लगाए कि पेट मे लड़का है या लड़की (baby boy symptoms in hindi) उन सभी तरीकों के बारे में जानेंगे जिनसे गर्भ में शिशु का लिंग (gender)  जाना जा सकता हैै...



पेट में लड़का है या लड़की कैसे पता लगाए | kaise pata lagay ki pet me ladhka hai ya ladki


Kaise-pata-lagaye-ki-pet-me-ladka-hai-ya-ladki


Here's quick summary

ladka hone ke lakshan | गर्भ में लड़का होने के लक्षण  
  • गर्भावस्था में मॉर्निंग सिकनेस अधिक होना लड़का होने का लक्षण रहता
  • प्रेगनेंसी में बेबी बॉय का दिल 140bpm से कम धड़कता
  • प्रेगनेंसी में घने लंबे बाल लड़का होने का लक्षण
  • गर्भवती का दाहिने स्तन ज्यादा बड़ा होना लड़का रहता
  • प्रेगनेंसी में खट्टे खाने की इच्छा अधिक होना
  • गर्भवती को सपने में स्त्रियों का अधिक दिखना
  • प्रेगनेंसी में बहुत ज्यादा मूड स्विंगस होना
  • पीले-चमकिले रंग का पेशाब लड़का होने का लक्षण रहता



आइए हम आपको उन सभी तरीकों के बारे में बताएं जिससे पेट मे लड़की है या लड़का गर्भ में लड़का होने के लक्षण जाना जा सकता हैं



जरूर देखें: सोनोग्राफी से कैसे पता लगाए पेट में लड़का है



पुरानी माताओं के तरीको से जाने लड़का होगा या लड़की | गर्भ में लड़का होने के लक्षण | Baby boy symptoms in hindi




चेहरे के दाग धब्बे बताते बेटा होगा कि बेटी


लड़की : प्रेग्नेंसी में यदि आपके चेहरे का निखार जाने लगे, फेस पर पिंपल, एक्ने, झुरिया, दाग धब्बे जैसी समस्या आने लगे तो यह बेटी होने का संकेत देता है


लड़का : यदि आपको चेहरे पर किसी प्रकार की प्रतिक्रिया ना दिख रही हो तो जान ले आपको बेटा होने के संकेत मिल रहे हैं।  




निखरता चेहरा बताता बेटा होगा या बेटी 


लड़की : कहा जाता है गर्भावस्था में यदि लड़की का जन्म होने वाला हो तो वह अपनी मां की सुंदरता चुराने लगती है।


लड़का : वही जब बेटे का जन्म होने वाला हो तो आमतौर पर चेहरा खिला खिला और चमकदार बन जाता है।




शारीरिक तापमान बदलाव बताता लड़का होगा या लड़की 


लड़की : जब प्रेग्नेंसी में शरीर का तापमान बढ़ जाय अथवा गर्भवती अत्याधिक गर्माहट महसूस करने लगे तो, यह लड़की होने का संकेत देता है।


लड़का : वही जब प्रेग्नेंसी में आत्यधिक ठंड लगने लगे तो यह पेट में लड़के होने का संकेत देता है




दिल धड़कना बताता लड़का होगा या लड़की


लड़की : कहा जाता है यदि गर्भ में शिशु का दिल 140 bpm से तेज धड़क रहा है, इसका मतलब ये आपकी प्यारी बेटी का दिल है


लड़का : यदि गर्भ में शिशु का दिल 140 bpm से कम रहे, तो यह आपके लाडले बेटे का दिल होता है ।




खाने की तलब भी लड़का होगा या लड़की बताता 


लड़की : प्रेग्नेंसी में यदि महिला खासकर मीठे खाद्य पदार्थों की ओर अत्याधिक आकर्षित हो, इसका मतलब आपकी  प्यारी बेटी को मीठा खाने का मन कर रहा है।


लड़का : गर्भवती को यदि खट्टे भोज्य पदार्थों में विशेषकर रुचि बढ़ने लगे, और अधिक खट्टी चीजे खाने का मन करे, यह आपके बेटे की वजह से है।




कैलेंडर की तिथि बताता लड़का होगा या लड़की 


लड़की : ऐसा बताया जाता है यदि गर्भवती की उम्र तथा गर्भ धारण का महीना दोनों सम अथवा दोनों विषम हो तो लड़की होती है 


लड़का : यदि गर्भवती की उम्र तथा गर्भधारण का महीना एक सम और दूसरा विषम है इसका मतलब पेट में लड़का है।




शरीर का सूजना लड़का होगा या लड़की बताता 


लड़की : प्रेग्नेंसी में अगर पैरो, एड़ीयो या शरीर में कुछ सूजन या दर्द ना महसूस हो रहा है तो यह आपकी बेटी रहती है।


लड़का : गर्भवती को अगर पैरों, एड़ीयो में सूजन सा हो जाए और दर्द भी होने लगे तो यह बेटे होने का संकेत है।




पेशाब का रंग बताता पुत्र होगा या पुत्री 


लड़की : प्रेग्नेंसी में अगर पेशाब सफेद या धुंधले रंग का हो रहा हो, तो यह लड़की होने का संकेत देेेेता है ।


लड़का : गर्भवती को पेशाब अगर पीले और चमकीले रंग में होने लगे तो यह लड़के होने को बताता है।




सपने से जाने बेटा होगा या बेटी 


लड़की : पुरानी माए बताती है, सपने में यदि गर्भवती को लड़के या पुरुष अधिक दिखते हो, तो यह बेटी होने का संकेत दे रहा है।


लड़का : यदि गर्भवती को सपने में लड़कियां या स्त्रियां अधिक दिखाई दे, तो यह बेटे होने का संकेत रहता है।




बेकिंग सोडा से जाने लड़का होगा या लड़की 


लड़की : इसके लिए दो चम्मच बेकिंग सोडा एक कप में ले, सुबह एक कप यूरिन इसमें मिला कर देखे, यदी किसी प्रकार की प्रतिक्रिया ना दिखे, मतलब लड़की


लड़का : यदि बेकिंग सोडा और यूरिन मिलने से सनसनाहट जैसी आवाज आए तो यह लड़के होने का संकेत बताता है।




वजन बढ़ना घटना बताता लड़का होगा या लड़की 


लड़की : प्रेग्नेंसी में अगर पेट का आकर बड़ा हो अर्थात शिशु का वजन अधिक लगे, तो गर्भ में लड़की रहती है।


लड़का : प्रेग्नेंसी में यदि पेट कम निकला हो, तथा हल्का लगे  तो यह लड़के होने की ओर इशारा करता है।




मॉर्निंग सिकनेस बेटा होगा या बेटी बताता 


लड़की : पुरानी माताओं का कहना है, गर्भवती को अत्यधिक थकान, उल्टी, मतली और जी मचलने जैसी समस्या आए मतलब ये आपकी प्यारी, दुलारी बेटी की मौजूदगी है।


लड़का : गर्भवती को यदि थकान, उल्टी मतली जैसी कुछ समस्या ना आए तो यह लाडले बेटे की मौजूदगी का असर है।




सीने में जलन बताता पुत्र होगा या पुत्री


लड़की : अगर गर्भवती को सीने में जलन और जी मचलने की समस्या आ रही हो, यह आपके घनी बलो वाली बेटी है।


लड़का : पेट मे लड़का होने पर आपको सीने में जलन या जी मचलने जैसी कोई समस्या नहीं आएगी।




 पेट पर लाइन बताता बेटा होगा या बेटी


लड़की : जब पेट पर भुरी लाइन, नाभि (naval) के नीचे तक ही रहें, मतलब ये पेट में बेटी रहने का संकेत है।


लड़का : यदि गर्भवती के पेट की लाइन, नाभि (naval) के ऊपर तक जाए, यह बेटे होने का संकेत देता है।




ब्रेस्ट साइज बताता बेटा होगा या बेटी


लड़की : यदि गर्भवती का बाहिना स्तन अपेक्षाकृत बड़ा हो, मतलब यह लड़की होने का संकेत है।


लड़का : प्रेग्नेंसी में यदि दाहिना स्तन अपेक्षाकृत बड़े आकर में हो तो यह लड़का होने का संकेत है




अंगूठी से जाने लड़का होगा या लड़की


लड़की : इसके लिए एक अंगूठी को धागे से बांध कर नाभि के पास लटकाए, यदि अंगुटी गोल गोल घूमने लगे तो बेटी होती हैं।


लड़का : अंगूठी अगर आगे पीछे की ओर बढ़ने घूमने लगे तो, समझ जाए यह बेटे होने का संकेत है





सिर के बाल बताते लड़का होगा या लड़की 


लड़की : गर्भावस्था में जब बालों तथा चेहरे की चमक जाने लगे, इसका मतलब आपको प्यारी बेटी आपकी खूबसूरती चुरा रही है।


लड़का : यदि गर्भावस्था में चेहरे तथा बालों में चमक बढ़ जाय, इसका मतलब यह आपके बेटे की वजह से हो रहा है।





शरीर पर बाल बताते पुत्र होगा या पुत्री


लड़की : प्रेग्नेंसी में गर्भवती को त्वचा में यदि कुछ भी प्रतिक्रिया ना दिखे, मतलब कुछ विचित्र अनुभव ना मिले तो यह लड़की होने का संकेत देता है।


लड़का : गर्भवती के शरीर पर यदि पुरुषों के भांति बाल नजर आने लगे तो यह आपको लड़के होने का संकेत दे रहा है।




पेट का झुकना बताता पुत्र होगा या पुत्री


लड़की : पुरानी माए बताती है, यदि गर्भवती का पेट ऊपर की तरफ उठा हुआ दिखे तो गर्भ में बेटी होने का संकेत देता है।


लड़का : गर्भावस्था में पेट का नीचे की और झुकना बताता है कि आपके पेट मे लड़का है।




सोने का तरीका बताता लड़का होगा या लड़की 

 

लड़की : गर्भवती को अगर रात में दायी ओर सोने से आरामदायक महसूस करती तथा अक्सर दायी ओर सोती है तो आपको बेटी होगी


लड़का : यदि गर्भवती को बायी ओर सोने में ज्यादा आरामदायक महसूस होता है, मतलब की आपको बेटा होने वाला है।




नोट: चूंकि वैज्ञानिक तौर इन्हें सिद्ध नहीं किया गया है, तथा इनके सत्य होने के प्रमाण नहीं है मतलब इससे सिर्फ अंदाजा लगाया जा सकता है की आपको पुत्र होने वाला है या पुत्री




विज्ञान से कैसे पता लगाएं लड़का होगा या लड़की | लड़का होने के लक्षण | baby boy and girl symptoms according to science



Science-se-pata-lagaye-ki-pet-me-ladka-hai-ya-ladki



नॉन इनवेसिव पैरंटरल टेस्ट (NIPT)


non-invasive perental test इसमें शिशु के क्रोमोसोम्स को टेस्ट किया जाता है जिसमें किसी तरह की अबन्नॉर्मलिटी को जांचा जाता हैं जैसे- डाउन सिंड्रोम


यह टेस्ट प्रेगनेंसी में 10 हफ्ते के बाद किया जाता है NITP टेस्ट के लिए प्रेग्नेंट महिला की रक्त की जांच की जाती है, रक्त में मौजूद शिशु के क्रोमोसोम्स के परीक्षण से पता लगाया जाता हैं शिशु को किसी तरह की समस्या तो नहीं।


चूंकि इसमें शिशु के क्रोमोसोम्स का परीक्षण शामिल है, अत: यह संभव है लड़का होगा या लड़की जानना। हालांकि यह टेस्ट उन्हीं महिलाओ का होता, जिन्हे शिशु को जेनेटिक डिसएबिलिटी होने की संभावना हो



इन विट्रो फर्टीलाइजेशन (IVF) 


यदि आप IVF प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रहे हैं, तो यहां आप अपनी मर्जी से गर्भ में लड़का या लड़की स्थापित करवा सकते है।


चूंकि IVF प्रेग्नेंसी में फर्टिलाइजेशन शरीर के बाहर होता है अर्थात स्पर्म और ऐग को पहले निषेचित किया जाता है, जिसके बाद इसे माता के गर्भ में स्थापित किया जाता है।


मतलब की आप निर्धारित कर सकते हैं, गर्भ में लड़का है या लड़की यहां निर्धारित किया गया नहीं 99% एक्यूरेट भी रहता है, लेकिन कई बार कुछ खतरे भी रहते है। 




अमनियोसेंटेसिस (amniocentesis)


यह टेस्ट शिशु के विकास जांच के लिए किया जाता है। कुछ मात्रा डाक्टर amniotic fluid लेता। जिनमें मोजूद सेल्स शिशु के विषय में बताते हैं 


क्योंकि amniotic fluid में शिशु के जेनेटिक्स की सभी जानकारी रहती, मतलब यहां जाना जा सकता है पेट में ladka hai ya लड़की 


हालांकि डॉक्टर अमनियोसेंटेसिस के लिए तभी बोलते, जब अल्ट्रासाउंड से उन्हें कुछ abnormality दिखाई देती है खासकर जब उम्र 35 से अधिक हो और परिवार में क्रोमोजोम डिसएबिलिटी के पहले केस मौजूद हो। यह टेस्ट 30 मिनट्स में हो जाते, जो 15 से 18 सप्ताह के बाद से होता है।


जरूरी बात: यह केवल शिशु के लिंग जांच के लिए नहीं किया जाता, साथ ही इससे स्पोटिंग, पेट मे ऐठन तथा मिसकैरेज होने की संभावना भी रहती है।




अल्ट्रासाउंड (ultrasound)


अल्ट्रासाउंड रूटीन टेस्ट हैं जहां महीला के पेट की स्कैनिंग होती है। यहां बच्चे से निकले sound wave को स्क्रीन पर चित्रित किया जाता है।


चूंकि ultrasound में शिशु का पूर्ण चित्र बनता है अतः यह मुमकिन है कि आप जान सके की आपकी कोख में पुत्र है या पुत्री 


यहां स्क्रीन पर भ्रूण के जननांगों को देखा जाता है, यदि डॉक्टरों को लिंग दिखे तो लड़का और लिंग के ना दिखने पर लड़की बताते है।


जरूरी बात : भले डॉक्टर ultrasound टेस्ट 18 से 21 सप्ताह में करते हो लेकिन यह मुमकिन है इससे 10 से 11 सप्ताह में पेट मे लड़का है या लड़की जानना




क्रोनिक विली सैंपलिंग (chorionic villi sampling)


ये DNA test की तरह होता है। परन्तु यह थोड़ा आंतरिक है। जब शिशु विकसित होने लगता, तब उसके क्रोमोसोम्स माता के खून में आ जाते है जिन्हे CVS test के माध्यम से जांच किया जाता है


वैसे CVS test का मूल्य शिशु के लिंग जांच नहीं, अपितु शिशु में होने जेनेटिक्स प्रॉब्लम होती है 


जेनेटिक्स इंफॉर्मेशन होने की वजह से शिशु के लिंग का पता भी लगाया जा सकता हैं। परन्तु यह लिंग जांच के लिए सबसे उचित तरीका नहीं




ज्योतिषी शास्त्र से कैसे जाने बेटा होगा या बेटी | गर्भ में लड़का होने के लक्षण | astrology for gender prediction in hindi


Jyotishi-shastra-se-jane-pet-me-ladka-hai-ya-ladhki


यहां हम ज्योतिषी शस्त्र द्वारा जानने का प्रयास करेंगे, आपके पेट मे लड़का हैं या लड़की, हालांकि यह केवल अनुमान लगाने के लिए है, वैज्ञानिक तौर पर इनके सत्य होने का कोई प्रमाण नहीं है 



पुरुष तथा महिला ग्रहों को खोजना ( male female planet )


पहले कदम में माता-पिता की कुंडली में पुरुष ग्रह और महिला ग्रह की ताकत और पांचवें ग्रह पर इसके प्रभाव का पता लगाया जाता है


यहां बृहस्पति, मंगल, और सूर्य पुरुष ग्रह है। शुक्र, राहु, और चंद्रमा स्त्री ग्रह का प्रतिनिधित्व करते हैं। बुध, शनि, और केतु ट्रांसजेंडर का प्रतिनिधित्व करते हैं।


सर्व्रथम पिता की कुंडली में पांचवें स्थान का पता लगाए, तथा पांचवे गृह पर कब्जा किए चिन्ह को जांचे, यदि चिन्ह से पुरुष का बोध हो रहा हो तो 1 की गणना करें। इसी तरह माता की कुंडली में भी पांचवें स्थान का पता लगाए, तथा पांचवे गृह पर कब्जा किए चिन्ह को जांचे, यदि दोनों पुरुष का बोध कराते है मतलब लड़के होने की संभावना अधिक है।



पुत्तराका का महत्व | purataka ka mahatv


यहां बृहस्पति पुत्रकारक है, बच्चे का संकेतक, बृहस्पति को यदि पुरुष के संपर्क में रखा जाए अथवा ग्रहों के साथ जोड़ा जाए। इससे पुरुष बच्चे के होने की अधिक संभावना रहती हैं।


बृहस्पति यदि महिला गृह द्वारा शासित पर कब्जा कर ले, अथवा महिला गृह के साथ मिल जाता है तो पुत्र प्राप्ति की संभावना अत्याधिक होती है। यह पति और पत्नी दोनों के लिए दोहराया जाना चाहिए।



श्रवण घोष का महत्व  | shravan ghosh ka mahatv


उपर के दोनों चरण अर्थात पुरुष और स्त्री ग्रह का प्रभाव तथा बृहस्पति की स्थिति सभी श्रवणघोष ( राशि, होरा, देष्काण, नवमांश, द्वादशांश, त्रिशिम्सा ) में पड़ी जनी चाहिए।


पुरूष गृह का अधिक प्रभाव पुरुष बच्चे का जन्म तथा स्त्री गृह का अधिक प्रभाव स्त्री के जन्म की संभावना प्रकट करता है।



भोज और खस्तर की खोज | bhoj or khastr ki khoj


पुरूष की कुंडली में बीजा स्थान शुक्राणु का प्रतिनिधित्व करता हैं। तथा स्त्री की कुंडली में श्रेष्ठ अंडाशय का प्रतिनिधित्व करता है। 


 पुरुष की कुंडली में भैजा स्वामी को खोजे, यदि भोज का स्वामी पुरुष ग्रह से प्रभावित है तो पुरुष संतान की अधिक संभावना है। तथा इसके विपरित भी संभव है।


अब स्त्री की कुंडली में क्षत्र स्वामी की खोज करें, यदि क्षत्र स्वामी स्त्री ग्रह से प्रभावित है तो कन्या संतान की संभावना होती है और इसके विपरीत 



बृहस्पति गोचर का महत्व | brihaspati gochar ka mahatv


पति और पत्नी की कुंडली में बृहस्पति का घूमना संतान के लिंग को तय करने में प्रमुख भूमिका निभाता है।


उस घर की जांच करें जिसमें बृहस्पति कुंडली से गर्भधान के समय आया, यदि दोनों पुरुष पुरुष है तो लड़के का जन्म संभव है।


इसी तरह उस घर को देखे जिसमें पत्नी की कुंडली में गर्भधान के समय बृहस्पति का आगमन हुआ, यदि शासक पुरुष पुरुष है तो पुत्र की प्राप्ति संभव है।



भारत में लिंग जांच कराना कानूनन जुर्म है, यदि कोई डॉक्टर इस तरह जांच करते पाया जाता है तो उसका लाइसेंस रद कर दिया जाता है। तथा जांच करने वाले व्यक्ति को कठोर दंड दिया जाता है।



जरूर देखें : प्रेग्नेंसी आसानी से कैसे करें



HINDIRAM के कुछ शब्द :


कैसे पता लगाए की पेट में लड़का है, अथवा लड़की (ladka hone ke lakshan) इसके लिए यहां हमने आपको सभी तरीके बताए है जिससे आप pet me ladka hai ya ladki जान सकते है, हमारा अनुरोध है इस ज्ञान का गलत कार्यों के लिए प्रयोग ना करे

और नया पुराने