गर्भावस्था दसवां सप्ताह - शिशु विकास, गर्भावस्था लक्षण और प्रेगनेंसी टिप्स | 10 week pregnancy in hindi

दस सप्ताह गर्भावस्था आने से प्रेगनेंसी में आप लगभग पहली तिमाही के अंतिम भाग में पहुंच चुकी होती हैं शायद प्रेगनेंसी के लक्षणों से भी परेशान हो गई होंगी तथा इनके जाने का इंतेजार कर रही होंगी, मतलब की आपका शिशु भी बहुत तेजी से विकसित हो रहा होता है जो विकास की प्रक्रिया में बहुत आगे आ चुका होता हैं


गर्भावस्था के दसवें सप्ताह में आपका शिशु अपने भ्रूण अवस्था की समाप्ति कर पूर्णतः शिशु कहलाने योग्य बन गया हैं। अब तो कुछ महिलाओं को उनकी प्रेगनेंसी दिखने भी लगी होती हैं


जब महिला 10 सप्ताह की गर्भवती होती हैं शिशु का विकास  बहुत तेजी और जल्दी जल्दी होने लगा होता हैं



10 week pregnancy मतलब - 3 माह गर्भावस्था

1st trimester मतलब - गर्भावस्था पहली तिमाही

30 week's to go मतलब - 30 सप्ताह बचें




गर्भावस्था दसवां सप्ताह - शिशु विकास, प्रेगनेंसी सिंप्टम्स और देखभाल से जुड़ी जरूरी बाते | 9 week pregnancy in hindi


10-week-pregnancy-in-hindi


Here's quick summary


  • शिशु के दांत बनने लगे है, हालांकि, जन्म के छह महीनों बाद तक इन्हें आप नहीं देख पाएंगी, पर अभी शिशु के मसूड़ों में दांत बनने लगे है। 
  • पाचन के लिए शिशु का पेट अब विभिन्न रसायनों के स्त्राव में सक्षम हो गया होता है किडनियां भी ज्यादा मात्रा में यूरिन बनाने लगती है। 
  • शिशु में हड्डियां तथा जोड़ो का विकास इस सप्ताह होने लगा हैं, जिससे शिशु अपनी कलाई, घुटनों को भी मोड़ पाएगा।







दस सप्ताह गर्भावस्था में शिशु का विकास | Baby development by week 10 pregnancy in hindi




इस सप्ताह शिशु का आकार - baby size at 10 week 


जब आप 10 सप्ताह की गर्भवती होती हैं शिशु का विकास बहुत तेज और जल्दी जल्दी होने लगता हैं उसका आकार भी 1 ½ इंच तक बढ़ गया होता हैं 10 सप्ताह में शिशु का वजन अनुमानित तौर पर 0.14 ounce हो गया होता हैं



शिशु में शारीरिक विकास 


इस सप्ताह शिशु के सभी अंग बनने तथा विकसित होने लगें हैं जैसे -

  • शिशु के नाक, मुंह और आंखे अपना आकार लेने लेंगी हैं
  • दांत भी मसूड़ों के अन्दर बनने लगें हैं 
  • हाथ व पैर भी अपने विकास की प्रारंभिक अवस्था में है
  • आईलीड भी बनकर तैयार हो गया हैं
  • शिशु के कानो का बाहरी आवरण भी तैयार हों रहा हैं



भ्रूण से शिशु अवस्था



यह सप्ताह शिशु में भ्रूण अवस्था का अंतिम सप्ताह होता है मतलब की अब आप शिशु को पूरी तरह शिशु बुला सकती हैं शिशु का शरीर भी पहले के मुकाबले काफी विकसित हो चुका होता है, हालांकि, अभी भी बहुत से बदलाव होने बाकी है।



शिशु की हड्डियां 



जिस तरह शिशु प्रेगनेंसी के इस दौर में काफी तेजी से विकसित हो रहा होता है दस सप्ताह गर्भावस्था में शिशु की लम्बाई सिर से पांव तक 1 ½ इंच लंबा हो चुका होता है।

असल में शिशु अब इंसानी बच्चे का आकार लेने लगा है। हड्डियां तथा उनके जोड़ बनने तथा मुड़ने हेतु लचीले बन रहें होते हैं शायद इस सप्ताह शिशु घुटनों, टखनों व कलाइयों को भी मोड़ने में सफल हो जाए

भले शिशु पहले के मुकाबले काफी विकसित हो गया हो लेकिन वह अब भी मात्र 10 सप्ताह छोटा ही है।




शिशु के प्रथम दांत



इसी सप्ताह शिशु के मसूड़ों में दांत बनने लगते है, हालांकि, इन्हे आप अभी तो नहीं देख सकतीं, जन्म के बाद लगभग 6 माह पश्चात अपनी अवधि के अनुसार दांत बाहर आना शुरु होंगें,

दूसरे बदलाव जैसे - शिशु का पेट पाचन के लिए जरूरी रसायनों का स्त्राव करने लगता है। अब शिशु की किडनियां भी ज्यादा मात्रा में यूरिन बनाने लगती है, यदि आपका शिशु लड़का होगा तो इस सप्ताह उसमें टेस्टोस्टेरोन जैसे जरुरी हार्मोन स्त्राव प्रारंभ होगा




दस सप्ताह में गर्भवती का शरीर | Your body at 10 week pregnancy in hindi


10-week-pregnant-belly



लक्षण प्रगतिशील रहेंगे



इस सप्ताह भी आप उन सभी मजेदार प्रेग्नेंसी के लक्षणों को महसूस कर रहीं होंगी, जिन्होंने आपका पीछा ना छोड़ने की कसम खाई है

कुछ गर्भवती माताओं के लिए तो हार्मोनल बदलाव दिनभर सुस्ती और कब्ज जैसी समस्या के लिए प्रमुख कारण होते है। फाइबर से भरपूर खाद्याय पदार्थो का सेवन जैसे - फल, सब्जियां, होल ग्रेन तथा अधिक मात्रा मे पानी और एक्सरसाइज काफी मददगार साबित होंगे



नसों का दिखना



प्रेगनेंसी की दूसरी अनोखी चीज जो आप देखेंगी, शरीर पर लाइनों जैसी नसें उभरने लगी है ये नीली लाइन जैसे नसे जो ब्रेस्ट और पेट पर उभर रही होती हैं

नसों का दिखना तब और साफ हो जाता है, यदि आपकी स्किन गोरी हैं, गहरी स्किन पर भी इन्हे आसानी से देख सकेंगी, इन्हीं नसो के रास्ते जरूरी पोषक तत्व शरीर के विभिन्न अंगो तथा शिशु तक पहुंचते हैं।




कब्ज की समस्या


कब्ज का होना पहली तिमाही में समान्य रहता, तथा लगभग सभी महिलाएं इससे पीड़ित रहती हैं। आपको ऐसे खाद्य पदार्थों से दूरी बना कर रखना चाहिए जिनसे कब्ज या गैस जैसी समस्या को बढ़ावा मिलता हो उदाहरण - व्हाइट ब्रेड, वाइट राइस व मैदे से बने खाद्यान्न

आपको होल ग्रेन, फाइबर से भरपूर चीजे, फ्रेश फ्रूट लेने की जरूरत है आप ड्राई फ्रूट ले सकती है ये सभी चीजें कब्ज को दूर रखने में महत्वशाली होते हैं

इनमें मौजूद फाइबर शरीर को स्वच्छ बनाते हैं यदि आप इन्हे खा ना सके, इनका जूस बनाकर पीना भी आपकी काफी मदद करेगा, लेकिन चीजों को सही चलाने के लिए खुद आपका भी चलना फिरना जरूरी है इसलिए एक्सरसाइज पर भी ध्यान दे।




दस सप्ताह गर्भावस्था के लक्षण | Week 10 Pregnancy symptoms in hindi




अत्याधिक थकान लगना


शायद आप महसूस कर रहीं होंगी जैसे शरीर की पूरी एनर्जी गायब हो गई है। लेकिन चिंता मत कीजिए कुछ महीनों के बाद आपको राहत मिलने लगेगा, लेकिन आपको मदद लेने में हिचकना नहीं चाहिए,

परिवार के सदस्यों से मदद ले, साथ ही आपको थोड़ा बहुत कसरत भी करना चाहिए, हां, भले यह अजीब लग सकता है बावजूद इसके कसरत करना गहरी नींद लेने में आपकी बहुत सहायता करेगा।




पेट में ऐठन व उल्टि होना



जब पेट आपका साथ ना दे रहा हो तो सबसे बुरी चीज आप क्या कर सकती हैं? शायद खान छोड़ देंगी! लेकिन खाना नहीं खाना आपकी समस्या और अधिक बढ़ा देगा।

अगर कुछ खाना पेट में परेशानी की वजह बनती हैं तो आप अदरक का इस्तेमाल कर सकती है साथ ही एक्यूपंचर जैसी चिकित्सीय पद्धति का प्रयोग भी प्रेगनेंसी में लाभकारी रहता है



फूड क्रेविंग



हों सकता हैं प्रेगनेंसी के इस समय आपको बार बार उल्टी लगें, कुछ खाने की इच्छा ना हो या शायद आप कुछ वजन भी कम कर बैठें, हालांकि, इन सभी चीजों का आपके शिशु पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ने वाला, शिशु अभी बहुत छोटा है और उसे अभी ज्यादा न्यूट्रिएंट की भी ज्यादा जरूरत नहीं है

परन्तु समय पर और सीमित मात्रा में खाना, भूख शांत करने के लिए काफी है। यदि फिर भी आपको भूख लगे तो आपको अपना ध्यान बटाने की कोशिश करनी चाहिए- दोस्त को फोन लगाएं, कोई किताब, या टहलने चले जाए।



हार्टबर्न और इनडाइजेशन



पेट की आग से बचने का आसान रास्ता क्या हो सकता हैं? आपको खाने के तुरंत बाद सोने से बचना चाहिए मतलब आपको तब नहीं सोना चाहिए जब आपने कुछ खाया हो, साथ ही आपको एक बार में बहुत बड़ा मिल खाने से बचना चाहिए, ऐसा करना आपको हार्टबर्न, इनडाइजेशन और कब्ज जैसी समस्या से दूर रखेगा

 

ब्लोटिंग और गैस



क्योंकि प्रेगनेंसी हार्मोन शरीर के मसल्स रिलैक्स कर देती हैं ये आंतो में के मसल्स को भी रिलैक्स कर देती है जिसके कारण आंतो से खाना धीरे धीरे गुजरता हैं इसी कारण आपको पाचन संबंधी समस्या देखने को मिल सकती है। 

इसलिए आपको उन खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए जो पेट सम्बंधित समस्या जैसे गैस को बढ़ावा दे, शायद इनसे आपको कुछ फर्क देखने को मिल जाए।

 

अचानक सरदर्द


अचानक आने वाले सरदर्द का कारण क्या हो सकता हैं? इसके लिए भी प्रेगनेंसी हार्मोन जिम्मेदार होते है, मगर सिर दर्द होने के अन्य कारण भी हो सकते हैं जैसे - थकान, भूख, और तनाव 

आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए, शायद वे आपको acetaminophen टैबलेट या एक्यूपंक्चर लेने की सलाह दे, कुछ आसान नुस्खे जो आप ट्राई कर सकती हैं डार्क रूम सोए, ठंडा कंप्रेसर चेहरे या गर्दन पर रखें



बेहोशी और चक्कर लगना


आपका शरीर अभी प्रेगनेंसी में बढ़े रक्त स्तर को संभालने में लगा है ऐसे में चक्कर आना जैसी समस्या सामान्य है। कोशिश करें बहुत देर तक एक ही पोजीशन में बैठे, पोजीशन चेंज करे।

यदि आपका सर चकराने लगे, तारे दिखने में लगे, तो सिर को नीचे झुका ले इससे आपको राहत मिलेगी। भविष्य में ऐसी स्तिथि ना हो इसके लिए आपको खुद को हाइड्रेट रखने की जरूरत है तथा ब्लड शुगर लेवल भी मेंटेन रखें



नसों का दिखना


शरीर में बढ़े रक्त का स्तर और तेजी से हो रहीं खून की सप्लाई ही नसों के दिखने का प्रमुख कारण होते है, वैसे यह भी प्रेग्नेंसी का ही एक समान्य लक्षण है। आपको इन्हें अपना दोस्त समझना चाहिए। वैसे अभी आप इनसे छुटकारा नहीं पा सकती, शिशु के जन्म के बाद सब सामान्य हो जाएगा



पेट के आस पास दर्द



प्रेगनेंसी के इतने सारे सिम्पटम्स के बीच जैसे - राउंड लाईगमेंट पेन, बढ़ता हुआ पेट, ऐसा क्यों होता है?

गर्भवास्था में पेट के राइट और लेफ्ट दोनों साइड के मसल्स स्ट्रेच होते हैं जिससे ये आकार में बढ़े और पतले भी हो जाते हैं पेट का वजन बढ़ना और दबाव बढ़ने से ही दर्द का अहसास होता हैं आप सिर्फ इतना कर सकते है पैरों को ऊपर उठाकर आराम करें

 


गर्भावस्था दसवे सप्ताह में पेट निकलना | Pregnant belly at 9 week pregnancy in hindi




शायद आप खुद को बार बार आईने में देखा करती होंगी, आप 10 सप्ताह की गर्भवती हो चुकी है। समय बीतने के साथ अब तो कुछ कपड़े टाईट भी होने लगें हैं 

इस सप्ताह आप महसूस करेंगी, पेट के पास एक गोलाई आकार, जो ध्यान से देखने पर आपको फर्क साफ महसूस होने लगेगा।

प्रेगनेंसी के इस आपका पेट बढ़ने की कगार पर होता है क्युकी गर्भ में भी शिशु विकसित हो रहा हैं उसका आकार बढ़ने से आपका गर्भाशय भी फैलने लगता हैं

याद रखिए, कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी में बेबी बंप जल्दी तो कुछ को देर से दिखना शुरू होते हैं इसलिए अभी आपको ना दिखे तो चिंता ना करे। यह आपके हाइट, वेट और उम्र पर भी निर्भर करता है।




गर्भावस्था दस सप्ताह में अल्ट्रासाउंड | Ultrasound 10 week pregnancy in hindi



प्रेगनेंसी में अक्सर 10 से 13 सप्ताहों के बीच आपका एक अल्ट्रासाउंड चेकअप हो सकता है जिसमे डॉक्टर प्रेगनेंसी की कंडीशन और शिशु को जांचेंगे, इस सप्ताह आप शायद शिशु की हार्ट बीट को भी देख सकेंगी




गर्भावस्था दस सप्ताह केयर टिप्स | Self care tips 10 week pregnancy in hindi




अचानक स्वभाव में बदलाव



स्वभाव में परिवर्तन - कभी आप बहुत खुश होती होंगी तो अचानक रोने का दिल करता हो, कुछ देर बाद आप हसने भी लगती है ये सब स्वाभाव में बदलाव, मूड स्विंग्स पहली तिमाही में आप सबसे ज्यादा महसूस करेंगी...

हालांकि, दूसरी तिमाही में प्रेगनेंसी के बहुत सारे लक्षणों से आपको आराम मिल जाएगा, मगर तीसरी तिमाही में आपका सामना फिर से होगा



आवांछित गंधो से दूर रहे



प्रेग्नेंसी में बढ़े हुए "सेंस ऑफ स्मेल" आपके लिए एक नई ताकत हो सकती हैं, हालांकि, यही ताकत कई बार गर्भवतियों के लिए परेशानी का कारण भी बन जाता हैं जिसके कारण उन्हें किसी तरह की गंध मिलने पर उल्टी जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

कोशिश करे, ऐसे किसी भी प्रकार के गन्ध के प्रभाव में ना आए, आपको उन खाद्य पदार्थो से भी दूरी बनाने की आवश्यक्ता है जिन्हे आप पसंद नहीं करती



विटामिन डी जरूर ले



इस सप्ताह शिशु के मसूड़ों में दांत आना शुरू हो जाते है। लेकिन यदि आप विटामिन डी की कमी करते है तो शिशु को भविष्य में कैविटी जैसी समस्या दे सकती है।

इसके बारे में आप चाहें तो अपने डॉक्टर से बात कर सकते हैं। मछली, अंडे और डेयरी प्रोडक्ट में आपको भरपूर विटामिन डी मिल जाएगा



हेल्दी ब्रेकफास्ट करें



अगर अभी तक आप नाश्ता करने के बारे में नहीं सोचती थीं तो अब समय है आपको एक हेल्दी ब्रेकफास्ट लेने के बारे में सोचना चाहिए। 

ओट्स और DHA से भरपूर अंडे का सेवन बेस्ट रहेगा, ओट्स से आपको फाइबर, बी विटामीन, आयरन और बहुत सारे मिनरल्स मिल जाएंगे, अंडे से आप प्रोटीन की डेली इंटेक पूरा कर सकती हैं




अपने शरीर की सुने



सोना या बैठना, आपका शरीर एक नए जीवन का निर्माण कर रहा है, जिसके होने वाले बदलाव ही थकान के प्रमुख कारण होते है, हालांकि, प्लेजेंटा के विकसित होने से आपको बहुत राहत मिलने लगती है शायद दूसरी तिमाही में, जहां आपका शरीर, खुद को, होने वाले बदलाव में ढाल लेता है।

अभी आप सिर्फ इतना ही करें, खुद को हाइड्रेटेड रखें, अधिक पानी पिए, ब्लड शुगर नियंत्रित करने के लिए स्नैक्स ले, साथ ही कॉन्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन जैसे ओट्स, एग, दूध, ड्राई फ्रूट जरूर ले आपको एनर्जी बूस्ट मिलेगा।  



UTIs को देखे



यूरिनरी ट्रैक्ट इनफेक्शन (UTIs) सामान्यता महिलाएं शुरूआती प्रेगनेंसी में इससे पीड़ित हो जाती है। यदि आपको पेशाब के समय दर्द तथा बार-बार पेशाब की इच्छा हो, लोअर एब्डोमिनल पेन, पेशाब में खून तो आपको डॉक्टर या मेडिकल हेल्प लेना चाहिए, इसमें एक एंटीबायोटिक प्रोसीजर की मदद से इसका सुरक्षित ईलाज किया जाता है

 

फोटोग्राफ योर प्रेग्नेंसी बंप


अगर आप अपने प्रेगनेंसी की इन निशानियों को समेटना चाहतीं है तो अपने बेबी बंप की एक डॉक्यूमेंटरी क्रिएट कर सकती है

प्रेग्नेंसी के बदलवा तथा इन यादगार लम्हों को आप संजो कर रख सकती है। शायद जब आपका बेबी बाहर आ जाए, तो आप उसके साथ इन यादगार लम्हों को फिर से याद करना चाहेंगी।



दस सप्ताह के लिए प्रेगनेंसी डाइट


  • प्रोटीन युक्त भोजन खाए - जैसे नाइट्स, मूंगफली, दाल
  • यदि आप दूध नहीं पीना चाहती, तो आप दही का सेवन करें 
  • हरी सब्जियां खाये, रेशेदार फल और सब्जियां जरूर सेवन करे



Hindiram के कुछ शब्द

10 week pregnancy in hindi : इस सप्ताह बहुत से बदलाव होंगे तथा अभी बहुत से बदलाव होना बाकी है। परन्तु अभी सबसे जरूरी होगा आपको खुद का और शिशु का ख्याल रखना, अगर आपको इसको लेकर कोई शंशा है तो आप उसे अपने निरीक्षक से पूछ सकती हैं। इस सप्ताह भी शिशु में बहुत से बदलाव हुए हैं तथा आने वाले सप्ताहों में ये शिशु और भी तेजी से विकसित होगा
और नया पुराने