गर्भावस्था बारहवां सप्ताह - शिशु विकास, गर्भावस्था लक्षण और केयर टिप्स | 12 week pregnancy in hindi

 

इस हफ्ते - pregnancy week में क्या क्या होगा ?


अब आपकी pregnancy तीसरे माह में पहुंच चुकी है। हो सकता, 12 week pregnancy आपको कुछ आराम भी दे और शायद प्रेग्नेंसी सिंप्टम्स भी कम परेशान करे।


शिशु भी बहुत कुछ इंसानी बच्चे जैसे दिख रहा, लेकिन अभी इसमें बहुत कुछ विकसित होना बाकी है। जो इस 12 week pregnancy तथा आने वाले सप्ताहों में तेजी से होंग



Pregnancy 12 weeks - तीन माह

First trimester - पहली तिमाही

बचे हुए सप्ताह - 28 weeka



बारह सप्ताह गर्भावस्था - शिशु का विकास, प्रेगनेंसी सिंप्टम्स और देखभाल से जुड़ी जरूरी बाते | 12 week pregnancy in hindi


12-week-pregnancy-in-hindi


Here's quick summary


  • 8 सप्ताह में शिशु के आंत जो गर्भनाल की जगह पर थे, इस हफ्ते यह अपने उचित स्थान पेट में आ जाता 
  • मस्तिष्क के बीच पिट्यूटरी ग्लैंड इस सप्ताह अपनी कार्य प्रणाली की शुरुआत करता 
  • शिशु के बोन मेलो भी white blood cells निर्माण करने लगते, मतलब शिशु का शरीर अब जर्म से लड़ने को तैयार हो रहा।




बारह सप्ताह गर्भावस्था में शिशु का विकास | Baby development by week 12 pregnancy in hindi



बारह सप्ताह में शिशु का आकार कितना हैं? - baby size at 12 week 


शिशु दोगुना बड़ा हो गया, पिछले हफ्ते की तुलना शिशु दोगुना बढ़ा हो चुका है, वजन लगभग 11 ग्राम तथा लंबाई 2 से 2 ½ इन्च तक बढ़ चुकी है। 

भले आपको यह अनोखा ना लगे, लेकिन पिछले 3 सप्ताह में शिशु 100 गुना अधिक बढ़ चुका है। हां बाहर से आपको सब नॉर्मल दिख रहा होगा, लेकिन अंदर बहुत बदलाव हो रहे होते



  • शिशु का शरीर इस सप्ताह काफी हद तक पारदर्शी रहता। 
  • हड्डियां जैसे - सिर तथा पूरा स्केलेटन मजबूत बन रहा।
  • हाथ तथा पैरों के नाखून भी बनने लगे।
  • गले में वोकल कॉर्ड ( वाद्य यंत्र ) भी इस सप्ताह बनने लगा।
  • लिवर में भी लाल रक्त कोशिकाये बनने लगी
  • पिट्यूटरी ग्लैंड भी हार्मोन सीक्रेट करने लगता
  • आंत भी गर्भनाल से अलग हो अपनी जगह पर आएगा।
  • प्लेजेंटा भी कुछ अपना फंक्शन करने लगता, जिससे प्रेगनेंसी हार्मोन प्रभावों से कुछ राहत मिलती।



 पाचन तंत्र की कार्य प्रणाली शुरू होती


यह सप्ताह सच में माता तथा शिशु दोनों के जीवन में बहुत बड़ा बदलाव लाता, क्युकी इसी सप्ताह से शिशु का शरीर नए आकार में विकसित होना प्रारमभ होता


हालांकि, इसके महत्वपूर्ण अंग बन चुके, लेकिन बहुत से अंगो का बनना अभी बाकी है। तथा जो अंग बन चुके वे अब मैच्योर होंगे, जिसे हम मेंटेनेंस फेस भी कह सकते है। खासकर पाचन तन्त्र में कॉन्ट्रैक्शन शुरू हो जाता, जिससे ये भोजन पचाने को तैयार होते।


 

वाइट ब्लड सेल्स 


वैसे तो बोन मेलो शरीर में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता, जिनमें से एक वाइट ब्लड सेल्स का निर्माण भी रहता, जो शरीर को बीमारियों से लड़ने मदद करता।


इसी सप्ताह दिमाग के बीच स्थित महत्वूर्ण ग्लैंड - पिट्यूटरी ग्लैंड अपनी कार्य प्रणाली की शुरुआत करती हैं। जो भविष्य में शिशु को उसके बच्चे होने में मदद करेगा।


शिशु की हार्टबीट


इसी सप्ताह अगर आप अपने शिशु की हार्ट बीट सुनना चाहें तो डॉक्टर अपने मशीन की सहायता से यह कर सकते है।



बारह सप्ताह में गर्भवती का शरीर | Your body at 12 week pregnancy in hindi



कुछ प्रेगनेंसी लक्षणों का खात्मा


जैसे जैसे पहली तिमाही के अंत में आप पहुंचने लगती, शिशु पेल्विस से सामने की तरफ एबडोमीन में जुड़ने लगता 


यदि आप खुशनसीब होंगे, कुछ प्रेगनेंसी सिंपटम्स अब आपको कभी परेशान नहीं करेंगे। जैसे आत्याधिक पेशाब होना।


तथा जैसे-जैसे आप दूसरी तिमाही में दाखिल होंगी - पेट में ऐठन, फूड एवर्जन, ब्रेस्ट प्रॉब्लम्स तथा थकान जैसे लक्षणों से राहत मिल जाएगी।



गर्भावस्था में पेट | Pregnant Bally in Hindi


अब 12 week pregnancy से आपका बेबी बंप दिखने लगता, अब तो बाहर से भी आपको इसका पता चल रहा होगा। साथ ही आप महसूस करेंगे आपके कुछ पसंदीदा कपड़े आपका साथ छोड़ देंगे।


अब तो आपका कुछ वजन भी बढ़ गया होगा। परन्तु जैसे भी आपकी 12 week pregnancy bally हो छोटी या बड़ी दोनों का होना नॉर्मल ही रहेगा। इस लिए ज्यादा सोचिए मत - अगर आपको pregnant Bally ना दिखे तब


चक्कर आना


जैसे ही आप दूसरी तिमाही में पहुंचेगी, कुछ प्रेग्नेंसी सिंप्टम्स से आपको छुटकारा मिलेगा तो इसके साथ ही कुछ नए प्रेगनेंसी सिंप्टम्स से मुलाकात होगी - सर चकराना


हालांकि, यह भी आपके प्रेगनेंसी हार्मोन की बदौलत है। प्रोजेस्ट्रोन जो ब्लड वेसल्स फैला देता है। जिससे इनमें कम मात्रा में रक्त संचार होता जो आपको चक्कर आने जैसी समस्या दे सकता है।


चक्कर आने का दूसरा कारण यह भी हो सकता - आप ब्लड शुगर लेवल मेंटेन नहीं कर रही। तथा पर्याप्त मात्र में भोजन नहीं कर रही।


TIPS : यदि आपको चक्कर आने लगे, तो सीधे बैठें, सिर दोनों घुटनों के बीच लाकर लंबी और गहरी सांस लें। तथा जैसे ही आप अच्छा महसूस करने लगे तो जरूर कुछ कहा ले।



लो सेक्स ड्राइव 


गर्भावस्था में होना, कुछ महिलाओं के लिए उनकी सेक्स लाइफ में बढ़ोतरी कर देता तो वही कुछ महिलाओं की सेक्स ड्राइव में कमियां भी ला देता।


हालंकि, प्रेगनेंसी सिंप्टम्स ही सेक्सुअल लाइफ में कमजोरी की वजह बनते, जो काफी काफी मुश्किल भी रहता - पेट में ऐठन, थकान के समय लो सेक्स ड्राइव होना सामान्य ही रहेगा।



प्रेगनेंसी सिंप्टम्स pregnancy 12 week in hindi


सुगंध लेने की क्षमता बढ़ना


अभी तक आपको पता न चला हो, शायद अब लग जाएगा - जैसे अगर आपके दोस्त आपके पास आएंगे आप उनकी गंध से पहचान जाएंगी उन्होंने क्या खाया होगा। ये आपके सुपर सेंस ऑफ स्मेल का कमाल है

 

लेकिन कई बार यही आपको मुसीबतों में भी डाल देगा, इसलिए घर के दरवाजे-खिड़कियां खोल कर रखे साथ ही एक नींबू का टुकड़ा रखें। यदि कोई तीखी गंध आपको परेशान करे तो इसे सूंघ सकेंगी।



 बाथरूम कम जाना होता होगा


अब तो शायद आपको बार बार बाथरूम की तरफ जाने से राहत मील गई होगी। हां अभी भी आपको जाना पड़ता होगा लेकिन पहले के मुकाबले कम ही होगा


 अचानक सर दर्द


कोशिश करें, आप खाद्य पदार्थों का सेवन पर्याप्त मात्रा में कर रहे होगें, तथा ब्लड शुगर लेवल भी मेंटेन कर रहे होंगे। क्युकी इससे भी सर दर्द की समस्या होने लगती।


थकान


जबसे आपकी प्रेगनेंसी शुरू होती, आपका शरीर कड़ी मेहनत करने लगता l जिससे वह शिशु को पोषित कर विकसित करे। लेकिन मात्र शिशु नहीं प्लेसेंटा का विकास भी आपको ही करना रहता। इससे यदि आपको थकान लगे तो खुद के लिए समय जरूर निकले



ब्लोटिंग और गैस


इस प्रेग्नेंसी सिंप्टम्स से छुटकारा पाने का एक तरीका है - आप खाना धीरे धीरे खाए, जिससे खाने के साथ हवा पेट मे नहीं जाएगा और आप गैस जैसी समस्या से भी बच सकेंगे।



अत्याधिक का बनना


 दूसरी तिमाही के बाद यह प्रेगनेंसी सिंप्टम्स भी चला जाएगा। जो कबसे आपको परेशान कर रहा होता, लेकिन अभी इससे बेचने के लिए सुगर लेस चिग्गम खाय, राहत मिलेगी।




सेल्फ केयर टिप्स | pregnancy self care tips


फ्लू टीका


सभी प्रेग्नेंट महिलाओं को सलाह दी जाती, खासकर मई से अक्टूबर के बीच की वे फ्लू का टीका लगवाया क्युकी आपके शरीर का इम्यून कमजोर है जिससे जर्म्स फैलने का खतरा रहता है।



ढीले कपड़े पहनने की आदत


आपके डॉक्टर भी अब देख के बता देंगे आप गर्भवती है, और शायद आपका प्रेगनेंसी बैली भी बाहर आ रहा होगा। इसलिए अभी सही समय है आप ढीले कपड़े पहनने की अदात डाल ले।


नशीली चीजों से दूरी


नशीले पदार्थ का सेवन से खुद को कोसो दूर रखे। ये ना सिर्फ आपको हानि पहुचायेगा बल्कि आपके शिशु के लिए भी जानलेवा साबित हो सकता है। थोड़ी मात्रा में भी नशीले पदार्थ का सेवन हानिकारक होगा


भोजन का ध्यान रखें


कभी भी कच्चा भोजन ना खाये, क्युकी इनमें हार्मफुल बैक्टीरिया रहते, जो माता और शिशु दोनों को नुक्सान करेगा। कच्छे भोजन में मौजूद बैकटीरिया प्रीमेंच्योर बर्थ का कारण भी बनती है।


 हाइड्रेटेड रहें


जब आप प्रेग्नेंट नहीं थी तब की तुलना में अभी आपको ज्यादा हाइड्रेट रहने कि जरूरत है। आपको थोड़ा ज्यादा पानी पीना चाहिए। खासकर यदि आपने कोई फिजिकल एक्टिविटी किया हो।


जाने किस तरह के भोजन से दूर रहना


शायद प्रेगनेंसी में आपको बहुत कम ही चीजें देखने को मिलेंगी जिसे गर्भवास्था खाया जा सके तथा वो हेल्दी भी हो। इसलिए गर्भवतियों को बहुत सी चीजे खाने से माना किया जाता है आप उनके बारे में डॉक्टर से जरूर सलाह ले।


HINDIRAM की कुछ बाते 


12 week pregnancy in hindi - इस सप्ताह बहुत से बदलाव हुए है लेकिन अभी pregnant women को अनेकों बदलाव का सामना करना है। इस लिए अपना ध्यान जरूर रखें

और नया पुराने