वी वॉश क्या होता है? महिलाएं इसका उपयोग क्यों करें | V wash uses in hindi

बात अगर लेटेस्ट ब्यूटी प्रोडक्ट की हो तो महिला-पुरुषों दोनों को ही इसमें संक्षिप्त में जानकारीयां होती हैं। लेकिन पर्सनल हाइजीन के मामले में दोनों ही बात करने से कतराते हैं। अधिकांशत: महिलाएं साबुन और पानी से ही इंटिमेट अंगो की सफाई करती है लेकिन प्राइवेट अंगों को साबुन से धोना बिल्कुल भी उचित नहीं होता



पर्सनल और इंटिमेट हाइजीन मेंटेन करना सिर्फ साफ-सुथरा रहने तक सीमित नहीं होता, बल्कि सही केयर और उचित विधियों का उपयोग महिला एवं पुरुषों दोनों को ही हेल्दी हाइजीन मेंटेन रखने में मदद करता है 


साबुन तो स्किन के PH (5.5) को ध्यान में रखते हुए सफाई के लिए बनाए जाते हैं लेकिन योनि जैसे इंटिमेट अंगो के लिए जहां का PH (3.5 से 4.5) होता है साबुन का प्रयोग PH को असंतुलित कर देता है जो फिर बाद में खुजली, जलन, इरीटेशन, डिसचार्ज जैसी समस्या का कारण बनता हैं


इसलिए एक्सपर्ट्स हमेशा इन इंटिमेट अंगों को गर्म पानी या V wash जैसे हाइजीन प्रोडक्ट से सफाई करने की सलाह देते है आइए इस लेख में हम v wash uses in hindi उपयोग से जुड़ी सभी बातों को संक्षिप्त में समझते हैं।



वी वॉश क्या होता है? महिलाएं इसका उपयोग क्यों करें | वी वॉश इस्तेमाल करने का सही तरीका क्या है| V wash uses in hindi

V-wash-use-in-hindi


वी वॉश (इंटिमेट वॉश) खास महिलाओं के लिए बनाया गया हाइजीन केयर प्रोडक्ट हैं। वी वॉश वेजाइना जैसे इंटिमेट अंगो के PH लेवल को संतुलित रखते हुए, सफाई हेतु तैयार किया जाता हैं। इसे आप किसी भी मेडिकल या फार्मेसी स्टोर से खरीद सकते हैं।


एक स्वस्थ महिला योनि का PH (3.5 से 4.5) के बीच होना चाहिए, यहां जननांगों में एक सुरक्षात्मक लेयर (परत) भी होती हैं यह एसिडिक लेयर (परत) जिसका मुख्य उद्देश्य योनि में किसी भी संक्रमण को होने से रोकना होता है।


मगर साबुन अथवा पानी, जिनका PH लेवल (5 से 7) के बीच होता है योनि के PH को असंतुलित कर देते हैं जो संक्रमण के खतरे को अत्याधिक रुप से बढ़ा देते हैं।




वी वॉश किन्हें उपयोग करना चाहिए |  v wash use kinhe Krna chahiye?


वी वॉश का उपयोग लगभग सभी महिलाएं अपने इंटिमेट अंगो की सफाई में कर सकती हैं। खासकर जब योनि में - इरिटेशन, खुजली, ड्राइनेस और इन्फेक्शन जैसे लक्षण महसूस हो रहे हो…


प्रेगनेंसी व पीरियड्स के दौरान भी वी वॉश उपयोग पूर्णतः सुरक्षित होता हैं इसे आप शावर जेल, साबुन के बदले प्रयोग कर सकते हैं।




क्यों इंटिमेट वॉश यूज करें | intimate wash kyu kiya jata hai


इंटिमेट वाश यूज करना, वेजाइनल PH लेवल मेंटेन रखने के लिए आवश्यक होता हैं। यह जननांगों में खुजली, बैक्टीरियल इनफेक्शन जैसे संक्रमण के खतरे को भी दूर करता है।


वि वाश का उपयोग अच्छे बैक्टीरिया जैसे लैक्टोबैसिलस के विकास में भी मदद करता हैं। हालांकि, योनि PH असंतुलन के अन्य कारक भी होते है जैसे -


वेजाइनल PH असंतुलन के अन्य कारण

  • अपर्याप्त स्वच्छता
  • सिंथेटिक अंडरगारमेंट प्रयोग करना
  • तंग (टाइट) कपड़े पहनना
  • सुगंधित टॉयलेट पेपर, सुगंधित साबुन उपयोग करना भी वेजाइनल PH असंतुलित होंने का कारण रहता हैं



एक गलत धारणा जो अक्सर महिलाओं में होती हैं अकेले योनि जैसे इंटिमेट अंगों को पानी या साबुन से धोना ही सफाई के लिए सबसे उपयुक्त तरीका होता है।


मगर सच्चाई ये है अकेले साबुन या पानी का उपयोग योनि के PH को असंतुलित कर देता है। मगर वी वॉश जैसे हाइजीन केयर प्रोडक्ट ना सिर्फ हाइजीन मेंटेन रखने में मदद करते हैं बल्कि जनन्नागो के PH को भी संतुलित रखते हैं



वी वॉश क्यों उपयोग किया जाता है? | V wash kyu upyog kiya jata hai


वी वाश एक लिक्विड सोप है जिसे खास महिलाओं के प्राइवेट पार्ट को ध्यान रखकर बनाया जाता है। लैक्टिक एसिड फॉरमेशन के अलावा इसमें दूसरे अन्य संयोजक भी मिले होते हैं


योनि को स्वच्छ, इरिटेशन रहित, ईचिंग, ड्राइनेस दूर कर दुर्गंध से आराम दिलाता हैं। महिलाएं जो अपने प्राइवेट पार्ट की स्कीन लाइटनिंग करना चाहती हैं जिनकी स्किन डार्क है उनके लिए V wash with lighting बेस्ट होता हैं।




वी वॉश किन चीजों से बना होता हैं | ingridient in V wash in hindi


ऑर्गेनिक इनग्रेडिएंट (प्राकृतिक पदार्थ) जो v wash में मिले होते हैं...



टी ट्री ऑयल

इसके हेल्थ बेनिफिट और स्किन केयर गुणों की वजह से ही इसे वी वॉश में उपयोग किया जाता है। टी ट्री ऑयल फंगल इंफेक्शन दूर रखने के लिए बेस्ट होता है इसमें anti-inflammatory प्रॉपर्टी भी होता हैं। जो स्किन क्लीन और हेल्दी बनाता हैं।


लैक्टिक एसिड

इसका उपयोग वेजाइनल PH को मेंटेन रखने में मदद करता हैं तथा अच्छे बैक्टीरिया के विकास में भी मदद करता हैं।


सी बर्थकोन ऑयल

बर्थकोन ऑयल स्किन इन्फ्लामेशन और इन्फेक्शन से बचाता है महिलाओं में ये वेजाइनल ड्राइनेस दूर करने में सबसे ज्यादा प्रयुक्त किया जाता है।


वी वॉश में मुख्य इनग्रेडिएंट

लैक्टिक एसिड 1.2% w/v


वी वॉश में अन्य इनग्रेडिएंट

  • शुद्ध पानी
  • ट्राईथेनॉलमाइन लॉरिल सल्फेट
  • कोकेमिडप्रोपाइल बिटाइन
  • PEG - 7 ग्लाइसेरिल कोकेट
  • फेनोक्सीथेनॉल और बेन्जोइक एसिड
  • सोर्बिटोल
  • हाइड्राक्सप्रोपाइल सेल्यूलोज
  • पॉली एक्वमियम
  • खूशबू ( fragrance )
  • हिप्पोफाइ रहमनोइडस
  • सोडियम हाइड्राक्सड
  • मेलेलुक अल्टिफोलिया



क्या इंटीमेट वॉश वेजाइना के लिए सही है | kya v wash upyog vagina k liye sahi hai


यदि आप इंटीमेट वॉश के लिए साबुन उपयोग करते हैं उसमें बहुत से टॉक्सिक इनग्रेडिएंट होते हैं जैसे पैराबेन, सोडियम लॉरिल सल्फेट, डाइऑक्सेन तथा फ्रेगरेंस, वहीं पर वी वॉश पूरी तरह नेचुरल होता है।


इसका उपयोग गर्भवतियां भी कर सकती हैं गर्भवतियों के लिए Vwash बिल्कुल सेफ होता हैं। ये उन माताओं के लिए भी अच्छा है जिन्हे प्राइवेट पार्ट में इचिंग तथा जो क्लीन और फ्रेश रहना चाहती हैं।




वी वाश का उपयोग कैसे करें | How to use V wash uses in hindi 


वी वॉश उपयोग करना बहुत सरल हैं अगर पहली बार आप इसे खरीदने वाली है तो इसके लाभ और हानियो को लेकर तरह तरह के सवाल आपके भी दिमाग में जरुर आ रहें होंगे


सबसे अच्छी बात वी वॉश उपयोग की यह हैं इसे आप डेली उपयोग कर सकते हैं। खासकर नहाने के समय, असुरक्षित यौन संबंध के बाद इसका उपयोग जरूर करें। पीरियड में वेजाइनल PH इमबैलेंस होने पर दिन में 2 बार यूज कर सकते हैं।



वी वाश उपयोग विधी - 


  • वी वॉश की कुछ बूंदे हथेलियों या उंगलियों में ले तथा कुछ देर ऐसे ही रुके
  • अब हल्के हाथों से वैजाइना के बाहरी अंगों पर इसे अप्लाई करें
  • साफ पानी से अब इसे अच्छी तरह धोए



V wash uses के फायदे | advantages of using Vwash


एक अच्छी हाइजीन मेंटेन करने का मतलब सिर्फ अंडरगारमेंट साफ करना, प्राइवेट पार्ट की सफाई और नहाना नहीं होता, वी वॉश के कुछ बेनिफिट...


  • इंटिमेट एरिया की सफाई कर फ्रेश स्मेलिंग बनाता
  • वेजाइनल पीएच मेंटेन रखता, अपने लैक्टिक एसिड फॉर्मेशन से
  • स्किन इन्फेक्शन और बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाता
  • वेजाइनल डिस्कंफर्ट, इचिंग और ड्राइनेस दूर करता 
  • वेजाइनल दुर्गंध दूर कर फ्रेश समेलिंग बनाता
  • इसे पीरियड में भी उपयोग किया जा सकता है जो हाइजीन मेंटेन करने के लिए बेस्ट प्रोडक्ट बनता हैं।




V wash के नुकसान | disadvantages of V wash uses in hindi


कुछ रेयर कैसो में वी वॉश के साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं जैसे इसमें मौजूद इनग्रेडिएंट एलर्जी का कारण बन जाए - इचिंग, रैसेज, स्किन इरिटेशन। इसलिए आपको कुछ चीजों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए जैसे -


  • केवल बाहरी उपयोग के लिए, अर्थात इसे केवल योनि की बाहरी त्वचा साफ करने में उपयोग करें
  • हालंकि, वी वॉश के साइड इफेक्ट न के बराबर होते है
  • एलर्जी भी नहीं होती हैं 



वी वॉश उपयोग के लिए सावधानियां | V wash uses precautions


वैसे तो वी वॉश में ऑर्गेनिक और स्किन फ्रेंडली इनग्रेडिएंट मिले होते हैं पर शायद ये सभी को सूट ना करें, बेहतर व सटीक परिणामों के लिए इसके सेफ्टी गाइडलाइन को जरूर फॉलो करें


  • जरूरत से ज्यादा उपयोग ना करें, लिमिट में
  • अप्लाई करने से पहले, हाथों में लेकर कुछ देर रुके, देखें रिएक्शन तो नहीं 
  • उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह ले खासकर यदि आप किसी प्रकार की मेडिसिन उपयोग कर रही होंगी तो 
  • वी वॉश एक या दो बार ही प्रयोग करें, अत्याधिक यूज करना वेजाइनल पीएच लेवल में असंतुलन पैदा कर सकता हैं 



क्या वि वाश उपयोग करना उचित रहेगा?


इंटिमेट हाइजीन बेहतर स्वास्थ्य का अहम हिस्सा हैं। केवल पानी का उपयोग प्राइवेट पार्ट की सफाई के लिए बेस्ट नहीं होता। दुर्गंध, पीएच इमबैलेंस, इरिटेशन के समय वी वॉश बेस्ट हाइजीन केयर प्रोडक्ट्स साबित होता है।


साफ शब्दों में कहा जाए तो स्किन फ्रेंडली प्रोडक्ट्स जिसमें ऑर्गेनिक इनग्रेडियंट हो, जो सिर्फ योनि की सफाई के लिए बना है। गर्भावस्था और पीरियड्स में भी इसका उपयोग किया जा सकता हैं। V wash uses in hindi




वी वॉश प्राइस | V wash price


V wash plus intimate hygiene wash 200ml 

Price - 249 rs


V wash plus intimate hygiene wash 350ml

Price - 339 rs


V wash plus intimate hygiene wash 100ml

Price - 180 rs


V wash wow ultra thin sanitary napkins - extra large ( 30 counts ) 

Price - 162 rs




घर पर ही बनाए नेचुरल वी वॉश | home made V wash uses in hindi


अगर आप बाजार में मिलने वाले प्रोडक्ट्स का उपयोग नहीं करना चाहती तो कोई बात नहीं आप घर पर ही घरेलू चीजों से एक बेहतर इंटिमेट वॉश बना सकती है 



एलोवेरा जेल

वेजाइनल क्लीनिंग के लिए फ्रेश एलोवेरा जेल का उपयोग कर सकते हैं एलोवेरा से योनि की सफाई करना इंटीमेट हाइजीन सही रखने में मदद करता हैं



बेकिंग सोडा

वेजाइनल क्लीनिंग के लिए बेकिंग सोडा का प्रयोग भी कर सकते हैं। लेकिन बेकिंग सोडा के अधिक उपयोग से बचें



नींबू की पत्तियां

नींबू की पत्तियों में लिमोनैन नामक पदार्थ होता हैं यह आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होता है। उपयोग से पहले इसे पानी में अच्छी तरह उबाले, पश्चात वेजाइना की सफाई करें



कैमोमाइल ऑयल

कैमोमाइल ऑयल का उपयोग भी प्राइवेट पार्ट की क्लीनिंग में किया जा सकता है। यह जनन्नगो से दुर्गंध दूर करने के लिए भी बेस्ट हाइजीन प्रोडक्ट का कार्य करता है। 



एप्पल साइडर विनेगर

नहाने के पानी में कुछ बूंदे एप्पल साइडर विनेगर की डाले तथा इससे योनि की सफाई करें



दही

दुर्गंध से छुटकारा पाने के लिए आप दही को वेजाइना के बाहर स्किन पर लगा सकते हैं तथा साफ पानी से धोए, इससे बदबू दूर हो जाएगी।



ट्री ट्री ऑयल

पानी में कुछ बूंदे टी ट्री ऑयल की मिलाएं, फिर इससे वेजाइना की सफाई करें



v wash इन किड्स प्राइवेट पार्ट

बच्चों के गुप्तांग में कभी भी v wash का प्रयोग ना करें, क्योंकि बच्चों की स्किन नाजुक होती हैं। यह उनकी त्वचा को हानि पंहुचा सकता हैं।




वी वॉश से जुड़े कुछ मिथक बातें


बेहतर सफाई के लिए क्लीनिंग एजेंट को वेजाइना के अंदर प्रयोग करना चाहिए!!

ऐसा कभी भी ना करें, वेजाइना के अंदर कोई भी जेल, डिओडरेंट, परफ्यूम कभी भी प्रयोग न करें। ऐसा करना योनि के PH को असंतुलित कर देता हैं। इसे केवल बाहरी त्वचा और वेजाइनल वाल्व पर अप्लाई करें, अंदर कभी नहीं तथा ऐसे लक्षणों पर ध्यान दें जो अब्नॉर्मल लगें। 



सभी के वेजाइना का पीएच सेम होता है तथा सम्मान केयर की आवश्यकता होती

यह पूरी तरह सही नहीं है वेजाइनल पीएच अलग-अलग महिलाओं पर निर्भर करता है मासिक धर्म चक्र के दिनों में, दूसरे एक्सटर्नल फैक्टर्स तथा एक ही महिला के लो तथा हाई PH हो सकते हैं। तथा सभी को अलग-अलग मात्रा में केयर की जरूरत होती है



वैजाइना फ्रूटी और फ्लोरा सा महकना चाहिए

बिल्कुल भी नहीं, यह बस मनगढ़ंत बातें है जिसे लोगों में फैलाया गया हैं। लेकिन यदि आप अपने सेंट को लेकर चिंतित है तो आप वैजाइनल वाल्व में प्रयोग कर सकते हैं जांघों अथवा लोअर एब्डोमिन में इसका प्रयोग ना करें 



डिस्चार्ज हमेशा एबनॉर्मल और चिंतन योग्य है

यह पूरी तरह गलत है बल्कि डिस्चार्ज वेजाइनल क्लीनिंग का ही हिस्सा है। डिस्चार्ज अलग मात्रा, रंग, टेक्सचर, तथा मासिक धर्म चक्र पर भी निर्भर है। लेकिन यदि आपको डिस्चार्ज अबनॉर्मल लगे जैसे हरा, पीला, दुर्गंध, इचिंग हो तो इसे डॉक्टर को जरूर दिखाएं



सोप कंडीशनर का उपयोग

बिल्कुल भी नहीं, सोप-कंडीशनर का उपयोग वेजाइना से अच्छे बैक्टीरिया को भी हटा देता जो वेजाइना के लिए जरूरी होते है। जो फिर इरिटेशन, इन्फ्लामेशन और ड्राइनेस पैदा करते हैं। आप V wash उपयोग कर सकते हैं।



क्या खाएं क्या नहीं

संतुलित भोजन करे चीजें जैसे पाइनएप्पल, स्ट्रौबरी, दही, सोया प्रोडक्ट आदि वेजाइना के PH को संतुलित रखने में सहायक होते है प्रोबायोटिक सप्लीमेंट डाइट में शामिल करना अच्छे बैक्टीरिया के विकास में मदद करता है।




Hindiram के कुछ शब्द


V wash use in hindi - वी वाश का उपयोग महिलाओं में इंटिमेट हाइजीन को संतुलित रखने में मदद करता हैं क्युकी केवल साबुन या पानी ही से इंटीमेट वॉश काफी नहीं होता, इसलिए एक्सपर्ट्स यहीं रिकमेंड करते हैं कि प्राइवेट पार्ट की सफाई में v wash उपयोग किया जाना बेस्ट होता हैं।

और नया पुराने