गर्भावस्था 39 वां सप्ताह - शिशु का विकास, प्रेगनेंसी सिंप्टम्स, केयर टिप्स | 39 week pregnancy in hindi

गर्भावस्था में 40 सप्ताह में आप और आपके शिशु को फुल टाइम माना जाता है आपको लगेगा अब समय आ गया है वैसे ज्यादातर गर्भवती हूं कि डिलीवरी 40 सप्ताह पहुंचने से पहले ही हो जाती है


39 सप्ताह के समय आपको लेबर के संकेतों को देखना चाहिए साथ ही हॉस्पिटल जाने की पूरी तैयारी करके रख लेनी चाहिए


चाय से शुरू खुद के बाहर आने के बारे में जानता हो या ना हो बस ख्याल करें अब तक वह अपनी बर्ड पोजीशन ब्रेड तक पहुंच गया हूं



39 week pregnancy - मतलब 9 माह गर्भावस्था

3rd trimester - मतलब तीसरी तिमाही

1 week to go - मतलब 1 सप्ताह बचे




शीशु का विकास | child development at 39 week pregnancy in hindi


Here's quick summary… 


शिशु का बड़ा दिमाग : वैसे तो शिशु का शरीर अभी नहीं बढ़ रहा है लेकिन शिशु दिमाग उसके शरीर का 30% भाग है


त्वचा का रंग : शिशु की गुलाबी त्वचा अब सफेद, ग्रेइश है ऐसा भी हो सकता है उसकी त्वचा में अभी कोई भी पिगमेंट ना हो, जो भी हो, उसकी त्वचा का असली रंग जन्म के बाद ही पता चलेगा


शिशु बर्थ वेट : आपका शिशु अब अपने बर्थ वेट में पहुंच गया हैं लगभग 6 से 9 फाउंड तक




39 सप्ताह में शिशु का आकार - baby size


39 सप्ताह गर्भवती होने पर, आप और आपका शिशु दोनों ने ही full term होने का संकेत दे दिया है शिशु का वजन भी 7 से 8 पाउंड हो गया है तथा उसकी लंबाई 19 से 21 इंच हो गई होती हैं


वैसे तो ये मेजरमेंट अब ज्यादा बदलेंगे नहीं, लेकिन शिशु का दिमाग तेजी से विकसित हो रहा होता है जो अब आने वाले 3 सालो तक विकसित होते रहेंगे




कोई आंसू नहीं


शायद आपने सुना होगा बच्चे बहुत होते हैं वैसे यह सच बात ही है जिसे आप आगे आने वाले समय में जान भी जाएंगे, खासकर रातों को


लेकिन आप क्या नहीं जानती हैं कि शिशु अभी आंसू नहीं निकाल सकता, क्योंकि अभी तक उसके आंसू निकालने वाले ग्लैंड विकसित नहीं हुए हैं, हालांकि, अभी तो आप उसे चुप कराने की कोशिश में होगी, तथा 1 से 2 महीने में आंसू भी पोंछ रही होंगी 



शिशु की सफेद त्वचा


शिशु की त्वचा का रंग अब तक तो पूरी तरह बदल चुका होगा, शायद गुलाबी से सफेद, वैसे अभी इससे कोई फर्क नहीं पड़ता उसके त्वचा का रंग कैसा है कुछ समय पश्चात पिग्मेंटेशन के कारण फैट की एक मोटी परत रक्त वाहिनियों के ऊपर बनने वाली है जो उसकी त्वचा को मजबूत बनाएगा




उन्नचालिस सप्ताह गर्भावस्था में आपका शरीर | your body at 39 week pregnancy in hindi 



अब तो अंतिम समय आ गया है


गर्भावस्था खत्म होने के साथ ही एक नई शुरुआत भी होती हैं, अपनी 39 सप्ताह गर्भावस्था या बचें कुछ सप्ताहो बजे भी कुछ सप्ताह को देखें, क्युकी अगर शिशु देर से आने की फिराक में होगा तो अभी कुछ समय और लग सकते हैं


अभी तो आप बहुत असुविधाए महसूस कर रही होंगी, जैसे खुद को इतने बड़े भारी समान के साथ इधर-उधर घूमना, पेल्विस से भी एक तीव्र संवेदना हो रही होगी, ब्रैक्स्टोन हाइक कॉन्ट्रैक्शन भी तीव्र हो गए होंगे


इन सभी लक्षणों को आप एक अच्छा संकेत मान सकतीं है क्युकी ये सभी आपके शरीर को सही समय के लिए तैयार कर रहे होते हैं


 


प्रसव के संकेत


यह जानते हुए कि आपको बहुत जल्द जाना होगा, आपको लेबर के संकेतों को देखना चाहिए


जैसे पानी की थैली फूटना, डायरिया, मतली जो बहुत सी महिलाएं लेबर आने से पहले महसूस करती हैं। अचानक से एनर्जी लेवल में बदलाव, श्लेमा का स्त्राव - क्युकी यूट्रस की ओपनिंग खुल गई हैं, खून के छींटे - जो कि डाइलेशन और एफेसमेंट के कारण डिस्चार्ज से होता है


जैसे ही खून के छींटे के संकेत नजर आए इसका मतलब आने वाले 1 से 2 दिनों में लेबर आने वाला हैं, इसलिए समय देखने में मत गवांए, अपनी पूरी तैयारी रखें




c-section की तैयारी


बहुत से हॉस्पिटल और बर्थ सेंटर गर्भवती महिला के सुविधानुसार डिलीवरी की रणनीति में बदलाव करते हैं चाहे वह सिजेरियन ही क्यों ना हो


चाहे किसी निश्चित समय में आपका C - section होने वाला हो या induction, या फिर आप अभी लेबर में हों, हॉस्पिटल महिला के सुविधा के मुताबिक डिलीवरी की रणनीति में बदलाव कर सकते हैं अगर इमरजेंसी ना हो तो


जन्म के बाद जब आप शिशु को दूध पिला रही होंगी, तब आपके सारे दर्द दूर हो जाएंगे




उन्नचालिस सप्ताह गर्भावस्था के लक्षण - 39 week pregnancy symptoms in hindi



 ब्रैक्स्टोन हाइक कॉन्ट्रैक्शन


अगर आप इन कंट्रक्शन को महसूस कर रही थी तो जानती होंगी, इन दिनों ये कितने हो जाते हैं लेकिन अगर आप इसे महसूस नहीं कर रही तो कोई बात नहीं दूसरी प्रेगनेंसी में ये बहुत कॉमन होते हैं



चेंज इन फेटल मूवमेंट


शिशु के लिए जगह जब छोटी पड़ने लगती है इससे उसकी हरकतों में भी बदलाव आने लगते हैं उसकी हरकते अब एक कॉर्डिनेशन में होने लगती है जिसके कारण उसके लाते और जकड़ना अब पलटने और घूमने में बदल गई है लेकिन उसकी हरकतों को आप अभी भी महसूस कर सकती हैं




खून के छींटे


इस तरह का योनि स्राव गुलाबी या भूरे रंग के साथ होता है, क्योंकि सर्विस के ब्लड वेसल्स टूट रहे होते है चिंता ना करें यह संकेत है सर्विक्स डाईलेट हो रहा है 



श्लेमा - Mucus plug


इस सप्ताह म्यूकस प्लग पूरी तरह निकल जाएगा, हालांकि, आप इसे नोटिस नहीं कर पाएगी, इसका जाना है यह संकेत नहीं कि शिशु का जन्म कुछ घंटों की दूरी पर है बल्कि इसका मतलब है यह बहुत ही जल्द ही होने वाला है




पानी की थैली


एक और संकेत जो बताता है आपका लेबर बहुत नजदीक है एमिनियोटिक सैक का ब्रेक होना जिसे पानी थैली फूटना भी कहते हैं लेकिन चिंता मत कर अगर अचानक से ये हो जाए, अधिकांश समय ऐसा होने पर महिला हॉस्पिटल में ही होती है अगर नहीं तो अपने डॉक्टर को जानकारी दे और हॉस्पिटल के लिए रवाना होए



डायरिया


जैसे ही आपका शरीर शिशु के जन्म के लिए तैयार होता है रेक्टम के मसल्स लूज होने लगते हैं लूज बॉवेल मूवमेंट के कारण




पेल्विस पेन


बर्थ पोजीशन में आने पर शिशु का सिर पेल्विस पर आने से उस पर प्रेशर पड़ने लगता है जिसके कारण अपको असुविधा महसूस हो रही होगी, डिस्कंफर्ट जैसे - मेंस्चूरेशन के जैसे ऐठन, इनडाइजेशन भी डिलीवर का संकेत होता हैं




पीठ में दर्द


पीठ का दर्द भी बहुत तीव्र हो गया होगा, खासकर जैसे-जैसे गर्भावस्था अन्तिम समय में पहुंचती है यहां गर्म स्नान करना पीठ दर्द में बहुत आराम दिला सकता है।




सेल्फ केयर टिप्स | self care tips 39 weeks pregnancy in hindi



पानी की थैली


कैसे जानेंगे कि आपकी पानी की थैली फूट गई है - अगर योनि से निकलने वाले फ्लूइड अमोनिया जैसे दुर्गंध दे रहा हो तथा फ्लूइड निकलना बंद हो गया हो तो यह यूरिन है, क्युकी एमिनियोटिक फ्लूइड रंगहीन ओर दुर्गंधहिन होता है


अगर आपकी पानी की थैली फूट गई होगी तो फ्लूइड लगातार निकलते रहेगा तथा आप उसे रोक नहीं पाएंगे 




प्रसव के दौरान खाना


शोधों में पाया गया कि महिलाएं जिन्हें लेबर से पहले खाने दिया जाता है उन्हें लेबर कम समय के लिए होता हैं लगभग 16 मिनट


क्योंकि प्रसव भी एक महिला के लिए कड़ी मेहनत से भरा होता है इसलिए ऊर्जा की जरूरत यहां भी होती है, खाली पेट होना लेबर के लिए अच्छा नहीं होगा


अगर आपके डॉक्टर लेबर से पहले कुछ खाने को दे तो उसे खाए अथवा जों रिकमेंड करें उसका पालन करें, समान्य तौर पर हल्का स्नैक करना बेस्ट रहता है खुद को हाइड्रेट भी रखें




छोटी सी नींद ले


ज्यादा चिंता ना करें, आपका शरीर शिशु को विकास की प्रक्रिया में अंत तक सपोर्ट करता है इसलिए आपको आराम की जरूरत है चाहें तो हल्की नींद भी ले सकते हैं


 


ब्रीच बेबी


अगर आपका शिशु ब्रीच पोजीशन में है तो डॉक्टर पहले से आपको कुछ एक्सरसाइज रिकमेंड कर सकते हैं जिससे शिशु का सिर नीचे आ सके


पेल्विस टिल्ट्स, क्नीलिंग हिप्स अपार्ट


 

इलेक्ट्रॉनिक फैटल मॉनिटरिंग


शायद आपका शिशु भी बाहर की दुनिया में आने के लिए तैयार होगा, अनेकों समस्याओं से आगे बढ़ कर, हालांकि, कई बार शिशुओं को पेल्विस से बाहर आने में समस्या होती है


अगर शिशु की हार्ट रेट में बदलाव आया है, बहुत ज्यादा बढ़ना या कम होना तो इलेक्ट्रॉनिक फैटल मॉनिटरिंग किया जाएगा, जिससे डॉक्टर बेबी और लेबर को सही से हैंडल कर सके


Hindiram के कुछ शब्द


39 week pregnancy in hindi - गर्भावस्था पहला सप्ताह में आप pregnant नहीं रहती बल्कि ये समय तो आपके मेश्चुरेशन के शुरूआत का है क्युकी गर्भावस्था महिला के आखरी मासिक चक्र से गीना जाता है इसलिए इसे week 39 of pregnancy भी कहा जाता हैं।

और नया पुराने