गर्भावस्था बियालिस सप्ताह - शिशु विकास, गर्भावस्था लक्षण और प्रेगनेंसी टिप्स

अब तो आप 42 सप्ताह गर्भावस्था के अंतिम दौर में आ चुकीं है सामान्यतः इसे ही प्रेगनेंसी का अंतिम समय भी माना जाता है। लेकिन अगर शिशु अभी भी नहीं आया है तो हो सकता है डॉक्टर आपके शिशु को स्पेशल मॉनिटरिंग दे रहे होगें


शायद डॉक्टर महिला को लेबर प्रेरित करने की सलाह दे, जिससे आपमें वह प्रोसेस शुरू हो सके जिससे शिशु आपकी गोद में होगा


 

42 week of pregnancy मतलब - 9 माह गर्भावस्था

3rd trimester मतलब - गर्भावस्था तीसरी तिमाही

Baby will come Any time - शिशु कभी भी आ सकता है




गर्भावस्था बियालिसवां सप्ताह - शिशु विकास, प्रेगनेंसी सिंप्टम्स और देखभाल से जुड़ी जरूरी बाते | 42 week pregnant in hindi

42-week-pregnancy-in-hindi


Here's quick summary


  • लेबर प्रेरित करने के लिए डॉक्टर शायद अपको एक दवाई दे सकते हैं जो पूरी तरह सुरक्षित और कॉन्ट्रेक्शन शुरू करने में मदद करत
  • क्योंकि, ऐसा कभी भी हो सकता है प्लेजेंटा शिशु को जरूरी ऑक्सीजन और न्यूट्रिएंट्स पहुंचाना बंद कर सकता है इसलिए डॉक्टर लेबर प्रेरित करने की सलाह देंगे
  • वैसे बहुत से शिशु 40 सप्ताह बाद भी सुरक्षित रूप से बाहर आ जाते हैं लेकिन फिर भी डॉक्टर आप के शिशु को 




बियालिस सप्ताह गर्भावस्था में शिशु का विकास | Baby development by week 42 in hindi


इस सप्ताह में शिशु का आकार - baby size at 42 week

गर्भावस्था 42 सप्ताह के इस दौर में शिशु पूरी तरह विकसित और बड़ा हो गया होता है उसका आकार भी 19 से 22 इंच (48 से 56 सेंटीमीटर) तक बढ़ चुका होता है शिशु का वजन भी 7 से 9 पाउंड यानी (3.2 से 4.1 किलोग्राम) का हो चुका होता है



शिशु को मॉनिटर किया जाएगा


हालांकि, यदि शिशु अपने निर्धारित समय (ड्यू डेट) के बाद जन्म ले तब भी यह पूरी तरह सामान्य ही हैं मगर इस सप्ताह शिशु पर अधिक ध्यान देने की जरुरत होती हैं ताकि यह जाना जा सकें, सब सही है या नहीं, डॉक्टर शिशु को मॉनिटर करेंगे टेस्ट जैसे - नॉनस्ट्रेस और अल्ट्रासाउंड


जब शिशु गर्भ से बाहर आएगा, उसकी त्वचा ड्राई, क्रेक्ड व मुरझाई हुई होगी, वैसे यह कुछ समय के लिए ही है क्योंकि उसकी त्वचा से वर्निक्स की लेयर निकल गई होती हैं जो उसकी त्वचा को सुरक्षा प्रदान करती थी


बाहर आने पर शिशु के थोड़े लंबे नाखून होंगे जो उंगलियों से बाहर निकल रहे होते हैं शायद इन्हे आपको काटना भी पड़ जाएं, थोड़े लंबे बाल होंगें तथा शिशु पहले के मुकाबले ज्यादा सचेत होगा।




लेट डिलीवरी - late delivery


वैसे आपका ड्यू डेट आया और चला भी गया (दो सप्ताह पहले), मगर अभी भी आप पहले जैसे ही गर्भवती है शायद पहले से ज्यादा गर्भवती, लेकिन शिशु गर्भ में पूरी तरह सुरक्षित हैं


42 सप्ताह में आप अकेली नहीं जो शिशु के आने के लिए चिंतित हो रही है, हालांकि, बहुत से शिशुओं के आने का खुद का समय होता है लगभग 5% या इससे कम शिशु निर्धारित किए गए समय पर जन्म लेते हैं बहुत से शिशु तो 40 सप्ताह बाद आने की फिराक में होते हैं


इस बात का ध्यान रखे, डॉक्टर शिशु को मॉनिटर कर रहे हैं या नहीं, यहां एक चीज तो तय है जब शिशु बाहर आएगा वह आपके लिए ढेर सारी खुशियां भी लाएगा





बियालिस सप्ताह में गर्भवती का शरीर | Your body at 42 week pregnant in hindi



टेक हार्ट


आपको ऐसा महसूस हो रहा होगा जैसे ये प्रेग्नेंसी हमेशा के लिए ऐसे ही रहने वाली है। सूत्रों के आधार पर माने तो वास्तव में 70% पोस्ट प्रेगनेंसीयां पोस्ट नहीं होती है


बल्कि इनके पीछे कारण कंसेप्शन डेट की गलत गणना से हुई होती हैं आमतौर पर इरेगुलर ओव्यूलेशन तथा महिलाओं को उनकी आखिरी मासिक चक्र तिथि का ज्ञात ना होना


अगर आप भी यदि उन 2% प्रेगनेंसीयों की तरह ओवरड्यू में प्रेगनेंसी खत्म करते हैं तो यह जान लें, इस सप्ताह के खत्म होते तक नेचुरली आपका लेबर (प्रसव) आ चुका होगा अथवा आपके डॉक्टरी इसे प्रेरित करेंगे




ड्यू डेट चला गया


इतने दिनों बाद भी आप इंतेजार में है…! 42 सप्ताह गर्भवती होने पर अभी भी आप एक गर्भवती धात्री (मां) हीं हैं 42 सप्ताह के इतने लंबे समय के कारण शायद आप खुद को बहुत लंबी गर्भवती समझ रही होंगी


निराश ना होए, अधिकांशतः जन्म के लिए निर्धारित किया गया समय बस एक अनुमान ही होता है इसलिए यदि आपका शिशु ओवरड्यू है ऐसा हो सकता है वास्तव में यह समय शिशु के समय से बिल्कुल भिन्न हो, बस शांत रहिए और लेबर के संकेतों के आने पर ध्यान दीजिए अथवा डॉक्टर लेबर प्रेरित करने की सलाह देंगे


एक प्रीलेबर संकेत जो आपको देखना चाहिए - "लूज बॉवेल मूवमेंट" कुछ महिलाएं लेबर से पहले हल्की डायरिया भी महसूस करते हैं इसे आप प्रकृति का ही तरीका समझे शिशु को बाहर लाने का, अगले सप्ताह तक आपका शिशु आपकी गोद में होगा


 


बियालिस सप्ताह गर्भावस्था के लक्षण | 42 week symptoms of pregnancy in hindi



अत्याधिक ब्रैक्सटन हाइक्स कांट्रेक्शन


गर्भावस्था में इतनी आगे आ चुके होने पर आप शायद बहुत ज्यादा ब्रैक्सटन हाइक्स कांट्रेक्शन महसूस कर रही होंगी, जैसे जैसे आपका शरीर लेबर के लिए तैयार होगा गर्भाशय भी ठोस बनने लगता है लेकिन यदि आप रेगुलर पैटर्न में कांट्रेक्शन महसूस करती है तो यह असली कांट्रेक्शन हो सकते हैं




ब्लडी शो - bloody show


जैसे-जैसे सर्विक्स लेबर की तैयारी में खुलने लगता है आप एक हल्का गुलाबी या भूरे रंग का डिस्चार्ज देखेंगी जो पूरी तरह सामान्य और संकेत है शिशु कुछ ही दिनों में आने वाला है अगर डिस्चार्ज बहुत ज्यादा है चमकीले लाल रंग का है तो इसकी जानकारी डॉक्टर को दे, क्योंकि यह संकेत placental prievia और placental abruption का हो सकता है




पानी की थैली फूटना


यदि योनि से एक बौछार या बूंद-बूंद कर स्त्राव हो, गंधहिन, शायद आपके पानी की थैली फूट गई है। जिससे एमनीओटिक फ्लूइड लिक हो रहा है आपको तुरंत इसकी जानकारी डॉक्टर को देना चाहिए तथा डॉक्टर द्वारा निर्देशित लेबर डिलीवरी के इंस्ट्रक्शन को फॉलो करना चाहिए।


हालांकि, केवल 15% महिलाएं ही लेबर से पहले वाटर ब्रेकिंग महसूस करती हैं इसका मतलब आप जल्दी ही शिशु को जन्म देने वाली हैं




सर्वाइकल डाईलेशन और एफेसेमेंट 


डॉक्टर आपको पहले ही निर्देश दे चुके होंगे, सर्विक्स का डाईलेशन (खुलना) और एफेसेमेंट (पतला) होना शिशु को बर्थ कैनाल (जन्ममार्ग) में आने में कितना मदद करता है, हालांकि, शिशु के जन्म में आप किसी तरह का बदलाव तो नहीं कर सकती लेकिन अगर डॉक्टर को कॉन्ट्रेक्शन प्रेरित करने की आवश्यक्ता जान पड़ती है तो कुछ मेडिसिन होती है जो इसमें सहायक होती हैं।




डायरिया

 

एब्डोमिनल डिस्कंफर्ट या डायरिया भी एक पुष्टिकरण हो सकता है कि महिला में लेबर शुरू होने वाला है। शिशु के जन्म से पहले आंतो की मसल्स रिलैक्स हो जाती है आपको खुद को हाईड्रेट रखने के लिए अधिक पानी पीने की जरूरत है




स्तनों से रिसाव


बहुत सी महिलाएं महसूस करती है प्रेगनेंसी के अंतिम समय में उनके ब्रेस्ट (स्तनों) से एक तरह का फ्लूइड "Colostrum" लीक होने लगता है (पतला, पीले रंग का फ्लूइड) जिसे मां का पहला दूध भी कहा जाता है। अभी इनकी वजह से यदि आपको असुविधा हो रही हो तो आप नर्सिंग पैड का उपयोग अपनी ब्रा में कर सकते हैं।




गर्भावस्था बियालिस सप्ताह में केयर टिप्स | Self care tips 42 week pregnant in hindi



लेबर प्रेरित करने के बारे में जानें


शिशु वैसे काफी लेट हो गया हैं गर्भाशय भी उसके लिए थोड़ा छोटा पड़ने लगा होता है इस समय यदि लेबर की शुरूआत नहीं होती हैं तो डॉक्टर आपको लेबर प्रेरित करने की सलाह देंगे


लेबर इंड्यूस किए जाने पर डॉक्टर कुछ सामान्य हार्मोन मेडिसीन का उपयोग सर्विक्स में फैलाव लाने के लिए करेंगे जो शिशु को बर्थ कैनाल तक आने में मदद करता हैं



कांट्रेक्शन के संकेतो का ध्यान रखें


अगर कांट्रेक्शन बहुत तीव्र है जो लगभग 45 सेकंड तक रहता हो तथा हर 5 से भी कम मिनट में आने लगे, आपको तुरंत इसकी जानकारी डॉक्टर को देनी चाहिए शायद आपका शिशु शिशु कुछ घंटों की दूरी पर ही है




आंतो में बदलाव को ध्यान दें


डायरिया जैसे लक्षण पुष्टिकारक संकेत होते है अपका शिशु बहुत जल्द ही आने वाला है ये बस अपके शरीर का तरीका है रास्ता साफ करने का




क्या ये आपका पहला लेबर है?


यदि ये आपका पहला लेबर नहीं है, ऐसा बताया जाता दूसरा या तीसरा लेबर, हालांकि, आसान तो नहीं होगा मगर पहले के मुकाबले छोटा और आसान हो सकता हैं



चिंता न करें - जल्द ही शिशु आपकी गोद में होगा


गर्भावस्था के इस सफर में आप जितना ओवरड्यू हो सकती थी हो चुकी है लेकिन अब चिंता ना करें, सब कुछ सही रहेगा जब तक डॉक्टरस् आपके साथ हैं बहुत जल्द शिशु आपकी गोद में खेल रहा होगा


 


Hindiram के कुछ शब्द


42 week of pregnancy in hindi : बियालिस सप्ताह को प्रेगनेंसी का अंतिम समय माना जाता है जहां तक लगभग सभी शिशुओं का जन्म हो चुका होता है यदि आपमें लेबर की शुरूआत नहीं होती है तो डॉक्टर आपको लेबर प्रेरित करने की सलाह देंगे, हालांकि, आप चिंतित बिल्कुल भी ना हो क्युकी इस सप्ताह के अंत तक आपका शिशु आपकी गोद में होगा

और नया पुराने