10 सप्ताह तक प्रेगनेंसी कैसे रोके

 संभोग करना किसी प्रकार से गलत नहीं, असल में प्राणियों में संभोग क्रिया प्रजनन के लिए मुख्य स्रोत माना जाता है।

हालांकि, अनेकों रिसर्च दावा करते हैं संभोग करना शारीरिक तथा मानसिक लाभ प्रदान करता हैं। सामान्य व्यक्तियों के लिए संभोग लाभकारी रहता है।

परंतु अभी भी लोगों में जानकारी का अभाव है फलस्वरुप ना चाहते हुए भी वे unwanted pregnancy का शिकार बन जाते हैं। Unwanted pregnancy in hindi मतलब ” अनचाहा गर्भ ” इसमें महिला प्रेगनेंसी के लिए तैयार नहीं होने के बावजूद unwanted pregnancy पा लेती हैं।

आज के समय यदि आप 10 week pregnant है तो आसानी से अनवांटेड प्रेगनेंसी रुक सकती हैं। लेकिन जैसे-जैसे गर्भावस्था बढ़ता है प्रेगनेंसी रोकने में खतरा और खर्चा दोनो बढ़ने लगते हैं।

10 सप्ताह पश्चात आपके पास केवल सर्जिकल अबॉर्शन का ही रास्ता बचता हैं। लेकिन अगर आपको 10 सप्ताह प्रेग्नेंट हुए नहीं हुआ तो आप अनवांटेड प्रेगनेंसी रोकने के लिए इन तरीकों का उपयोग कर सकते हैं –

अनवांटेड प्रेगनेंसी रोकने के उपाय

Unwanted-pregnancy-kaise-roke

प्रेगनेंसी रोकने से पहले आपको यह जरूर पता होना चाहिए, आखिर प्रेगनेंसी कैसे होती है ? तथा गर्भ कैसे बढ़ता है ?

संभोग के दौरान शुक्राणु महिला की योनि में प्रवेश करते हैं तब ये ओव्यूलेशन में निकले अंडाणु से फर्टिलाइज हो जाता हैं जिससे प्रेगनेंसी होती है। साथ ही जब ये फर्टिलाइजड ऐग गर्भ में स्थापित हो जाता है तब पूर्णत: गर्भधारण होता है।

लेकिन इन सभी प्रक्रियाओं को होने में 6 से 14 दिनों का समय लग ही जाते हैं तथा शुरुआत मे आपको भी पता भी नहीं होता आप प्रेग्नेंट है या नहीं ? यह तो आपका पीरियड्स रूकने के बाद ही पता चलता हैं

शुरुआती प्रेगनेंसी रोकना

शुरुआती प्रेगनेंसी से मेरा मतलब है आपने कुछ समय पहले ही संभोग किया है तथा किसी कारणवश शुक्राणु महिला की योनि में प्रवेश कर गए हैं।

इस स्थिति में अनचाही प्रेगनेंसी को रोकने का सबसे आसान रास्ता कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेना है { I – PILS }

कॉन्ट्रासेप्टिव लेने से शुक्राणुओं तथा अंडाणु को मिलना रुक जाता हैं जिससे अनवांटेड प्रेगनेंसी होने का खतरा भी नहीं होता

इसका उपयोग संभोग के जितना जल्दी किया जाए उतना सही रहता हैं। 72 घंटों के अंदर इसे लेने से ज्यादा फायदे प्राप्त होते हैं

जरुरी टिप्स –

  • I-Pill इमर्जेंसी में उपयोग के लिए है इसका रेगुलर उपयोग से बचे 
  • इसके प्रयोग पश्चात 3 हफ्ते तक यदि पीरियड्स ना आए तो प्रेगनेंसी टेस्ट जरूर कराएं
  • यदि इससे एलर्जी हो तो प्रयोग न करें
  • 3 घंटे बाद उल्टी होने पर दूसरी pill ले सकते हैं।
  • यदि प्रेगनेंसी हो गई होगी तब यह कार्य नहीं करेगा।

साइड इफेक्ट ऑफ I-Pill

I-Pill सावधानी पूर्वक लेने पर इससे कोई नुकसान नहीं होगा, लेकिन इसके कुछ साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं –

  • उल्टी
  • थकान
  • सर दर्द
  • पेट में ऐंठन
  • मासिक चक्र इरेगुलर होना

अबॉर्शन ऑफ प्रेगनेंसी

जब बात प्रेगनेंसी अबोर्ट करने की आती है यहां केवल दो रास्ते ही दिखते हैं जिसकी मदद से आप प्रेगनेंसी रोक सकते हैं –

  • एबॉर्शन पिल
  • सर्जिकल मेथड

सर्जिकल मेथड का प्रयोग ज्यादातर 10 सप्ताह के बाद वाली प्रेगनेंसी में किए जाते हैं। इसमें भी दो तरीके से अबॉर्शन किया जाता हैं – 

  1. वेक्यूम एस्पिरेशन अबॉर्शन
  2. डाइलेशन एंड एवेक्युएशन अबॉर्शन

वेक्यूम एस्पिरेशन अबॉर्शन पहली तिमाही के आखिरी सप्ताह तथा दूसरी तिमाही के शुरुआत में किए जाते है।

इसमें सबसे पहले आपको दवाइयां दी जाएगी, जिससे सर्विक्स में पेन होने से रोका जा सके। पश्चात डॉक्टर एक ट्यूब सर्विक्स से गर्भाशय तक डालेगा, जिससे फिट्स और प्लेसेंटा को बाहर निकाला जा सके।

लेकिन डाइलेशन एंड एवेक्युएशन अबॉर्शन में सबसे पहले आपके सर्विक्स को लोकल एनेस्थेटिक दिया जाता हैं।

जिसके बाद एक डाइलेटेर से सर्विक्स को खोला जाता है। और एक ट्यूब को गर्भाशय तक भेजा जाता हैं इसमें एक सेक्शन मशीन लगा रहता है जो गर्भाशय से सभी चीजों को बाहर निकाल देता है।

सर्जिकल अबॉर्शन 10 से 20 मिनट से ज्यादा समय नहीं लेते हैं तथा आप उसी समय घर जा सकते हैं।

जरूरी टिप्स

  • आपको ऐठन हो सकती
  • दो से तीन सप्ताह संभोग नहीं करना
  • मेस्तुराल बिल्डिंग
  • ब्लड क्लोटिंग

अबॉर्शन पिल

अबॉर्शन पिल को मेडिकल अबॉर्शन भी कहा जाता है, इसमें दो पिल्स का उपयोग किया जाता है। जिससे प्रेगनेंसी को खत्म किया जा सके

  • Mifepristone ( mifeprex )
  • Misoprostal ( cytotec )

मेडिकल अबॉर्शन करने से पहले आप 10 week pregnancy से कम की होनी चाहिए। mifeprex शारीर में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन के स्तर को रोक देते हैं। तथा बिना इसके गर्भ में शिशु ठहर नहीं पाता

जब आप cytotec कुछ समय बाद लगभग 3 से 4 दिन बाद लेती हैं ये गर्भाशय से प्रेगनेंसी टिशू को बाहर फेंकने के लिए प्रेरित करता है।

अबॉर्शन के बाद क्या होगा

वैसे यह नॉर्मल ही है अबॉर्शन के बाद कुछ साइड इफेक्ट होना जैसे –

  1. ब्लीडिंग
  2. क्रापिंग

यह चेक करने के लिए की प्रेगनेंसी मिट गया कि नहीं अल्ट्रासाउंड भी किया जाता है

Hindirm के कुछ शब्द

Unwanted pregnancy से बचने के लिए आपको कुछ खास चीजें ध्यान रखनी चाहिए। आपका प्रेगनेंसी age जितना ज्यादा होगा खतरा और खर्चा भी उतना ही होगा। 10 सप्ताह तक आप आसानी से अपनी अनवांटेड प्रेगनेंसी रोक सकती है।

Share on:

Leave a Comment