जायफल से गर्भपात कैसे करें | गर्भपात करने का सही तरीका – jayfal se garbhapat kaise kare

गर्भपात की सभी विधियां, सभी के लिए उपयुक्त नहीं होती, मतलब यदि आपने गर्भपात कराने का सोचा होगा तो शायद आपने भी कहीं न कहीं घरेलू नुस्खों से गर्भपात करने का खयाल किया होगा, और किसी असरदार तरीकों की तलाश में होंगी…

वैसे घरेलू नुस्खों की बात करें तो यहां आपको बहुत से नुस्खे मिल जाएंगे, जिससे गर्भपात abortion कर सकते हैं लेकिन आज हम आपको खासकर जायफल से गर्भपात कैसे करें इसके बारे में बताएंगे

जायफल से गर्भपात, हालांकि, गर्भपात में जायफल सेवन का नुस्खा काफी पहले से लोगो मे प्रचलित है वहीं कुछ वैज्ञानिक शोधों में भी सामने आया, गर्भावस्था में जायफल का अधिक गर्भपात जैसे विकिरणों का कारण बन सकता है 

लेकिन क्या जायफल से गर्भपात होगा ? देखिए आज के समय गर्भपात के लिए 100% गारंटी इलाज मौजूद है जिससे आप पहली तथा दूसरी तिमाही में सुरक्षित रूप से गर्भपात करवा सकती हैं।

जायफल से गर्भपात अथवा घरेलू नुस्खो से गर्भपात का नुस्खा बिल्कुल भी कारगर नहीं हैं तथा इससे गर्भपात भी नही होगा, उल्टा ये आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए गर्भपात के लिए आपको सही रास्ता चुनना चाहिए, चलिए जाने वह रास्ता कौन सा है 

Table of Contents

जायफल से गर्भपात क्यों नहीं होता – jayfal se abortion of baby kyu nahi hoga

जायफल-से-गर्भपात-कैसे-करें

सच ये है – जायफल से गर्भपात नहीं होता है, इसके विपरित यदि गर्भावस्था में आप जायफल का सेवन करती है यह आपको अनेकों लाभ पहुंचा सकता है

हालांकि, एक सीमित मात्रा से अधिक जाना इसके लाभ को हानि में परिवर्तित कर सकता है, हालांकि, जैसा लोग बताते हैं अधिक जायफल से गर्भपात, इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है

रहीं बात जायफल अधिक सेवन करने की तो आपको पता ही होगा किसी भी चीज की अधिकता अच्छी नहीं होती, इससे आपको दूसरे तरह की दिक्कतें जरूर आ सकती है

गर्भपात का सही तरीका जानने से पहले, चलिए जानते हैं प्रेगनेंसी में जायफल खाने के क्या क्या फायदे तथा नुकसान हो सकते हैं…

प्रेगनेंसी में जायफल खाने के फायदे – Benefits of eating netmeg in pregnancy

100 ग्राम जायफल न्यूट्रीशनल वैल्यू

कैलोरी : 525

फेट : 36 g

कार्बोहाइड्रेट : 49g

प्रोटीन : 6g

सोडियम : 16g

पोटेशियम : 350mg

आयरन : 3g

मैग्नीशियम : 183g

कैल्शियम : 0.8g

विटामिन सी : 3mg

विटामिन ए : 30mg 

विटामिन बी 6 : 0.2mg

नईसीन : 1.3mg

पाचन में सहायता – help in digestion

जायफल आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर हैं इसे पेट संबंधित समस्याओं में राहत पाने के लिए भी उपयोग किया जाता है जैसे – अल्सर, क्योंकि यह पाचन तंत्र को मजबूत करता, कई भारतीय मिठाइयों में जायफल का छिड़काव देखने को मिल जाता है।

इनसोनॉमिया ट्रीटमेंट – insomnia treatment

जायफल में इस तरह के गुण पाए जाते हैं जो इंसानों में नींद की समस्या से राहत पहुंचाते, एक गिलास गर्म दूध के साथ जायफल का सेवन बहुत से लोगों में नींद आने की समस्या ठीक कर देता है। मताए अपने बच्चों को भी दूध के साथ जायफल देती हैं।

दर्द से राहत – pain relief

anti-inflammatory प्रॉपर्टीज से भरपूर जायफल दर्द से राहत पहुंचाता है इसमें मौजूद तत्व जैसे – मायरिस्टिसिन, एलिमिशीन, सैफरोल, इयुजीनोल दर्द से आराम पहुंचाने में कारगर होते हैं। इसके लिए जायफल का तेल अच्छा रहता है।

दिमागी सेहत – relax nervous system

जायफल का सेवन दिमाग की कोशिकाओं को स्टिमुलेट करता है। इसमें मौजूद तत्व शरीर में अच्छे हार्मोन के स्राव को भी प्रेरित करता हैं। जिससे हम तरोताजा महसूस करते हैं। मतलब जायफल मानसिक समस्याओं से लड़ने में कारगर है।

स्किन साफ करता – glowing skin

अगर आप ऐसे नुस्खे की तलाश में है जो आपकी स्किन को हेल्दी बनाए तो जायफल इसमें आपकी मदद कर सकता हैं। जायफल का सेवन चेहरे में चमक लाता है।

कोलेस्ट्रोल कम करता – reduce cholesterol

जायफल का सीमित मात्रा में सेवन करना, कुछ शोधों के मुताबिक कोलेस्ट्रॉल कम करता है। इसमें ऐसे प्रॉपर्टी होते जो हाइपोलिपिडेमिक कम करते जो कोलेस्ट्रॉल भी कम करते हैं।

प्रोटेक्टर लीवर – protact liver

जायफल मायरिस्लीगन से भरपूर होता है जो लीवर में होने वाली समस्याओं से राहत पहुंचाता है। इसमें anti-inflammatory प्रॉपर्टीज भी होते हैं जो लीवर में सूजन ठीक करता है।

गर्भावस्था में जायफल के नुकसान – disadvantages of eating netmeg in pregnancy

पेट संबंधी रोग – stomach problems

वैसे तो जायफल पेट संबंधी समस्याओं से राहत पहुंचाता है लेकिन यदि इसका सेवन अधिक मात्रा में किया जाए तो यह उल्टा असर कर सकता हैं जैसे – डायरिया, मतली, कब्ज

हॉलूसिनोगेनिक इफेक्ट – holisinogenic effect

मुरिस्टिसिन जो जायफल में होता है। रिलैक्सिंग ओर कलमिंग इफेक्ट देता हैं। लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन इस्के दुष्प्रभाव का कारण बनता है। 

धड़कन तेज करता – increase heart rate

जायफल का सेवन दिल के धड़कनों को तेज कर देता है। यदि इसके सेवन के बाद आप भी ये महसूस करें तो तुरंत डॉक्टर से मिले।

प्रेगनेंसी में हानिकारक – dangerous for pregnancy

गर्भवती महिलाओं तथा ब्रेस्ट फीडिंग माताओं को जायफल के अत्यधिक सेवन से बचना चाहिए, गर्भवतीयों में मिसकैरेज का खतरा रहता तथा ये प्रोस्टेटग्लैंड के प्रोडक्शन को भी बढ़ाता है अधिक मात्रा में सेवन शिशु को हानि पहुंचता है।

गर्भावस्था में जायफल का सेवन कैसे करें – how to eat netmeg in pregnancy

जायफल पाउडर का सेवन करें – Netmeg powder

  • 1 से 2 चुटकी जायफल पाउडर
  • खाने के बाद शहद में मिलाकर खाएं

जायफल का तेल – Netmeg oil

  • 2 से 5 बूंद जायफल तेल
  • शीशम या नारियल तेल में मिलाए
  • शरीर में लगाएं

जायफल खाने के कुछ अन्य तरीके

  • दूध के साथ
  • चाय के साथ
  • खाने में छिड़काव

गर्भपात करने का सही तरीका | सही तरीके से child abortion कैसे करें

इससे पहले आप गर्भपात का सही तरीका जानें आपको कुछ सावधानी बरतने की जरूरत है –

  • गर्भपात जितनी जल्दी करेंगें उतना अच्छा रहेगा, बेहतर होगा 10 सप्ताह से पहले
  • गर्भपात किसी योग्य निर्देशक के संरक्षण में रहकर ही करें
  • आपातकाल के लिए मेडिकल हेल्प सुनिश्चित कर लेंवे
  • घरेलू नुस्खों से बचें
  • अपूर्ण गर्भपात में डॉक्टर की मदद ले

यदि आप baby abort कराने की सोच रही थी तो आपके पास दो रास्ते है – 

मेडिकल अबॉर्शन – medical abortion

दवाइयों से गर्भपात जिसे medical abortion भी कहा जाता हैं इसे 10 सप्ताह गर्भावस्था से पहले ही किया जाता है इसमें अधिकांश दो मेडिसिन का उपयोग किया जाता हैं Mifepristone और misoprostal, जिसे खाने से गर्भपात हो जाता है

जरुर पढें – बच्चा गिराने की टेबलेट नाम और उपयोग

सर्जिकल अबॉर्शन – surgical abortion

सर्जिकल अबॉर्शन को 10 सप्ताह से अधिक हो चुके प्रेगनेंसी को रोकने में किया जाता हैं। ये दो प्रकार के होते हैं – एस्पिरेशन अबॉर्शन, डाईलेशन एंड इवेक्यूशन अबॉर्शन, यहां surgery अर्थात कुछ टूल्स का यूज करके गर्भाशय से प्रेगनेन्सी के अवशेषों को बाहर निकाला जाता है।

यदि आप गर्भपात कराना चाहते है तो आपको मेडिकल अथवा सर्जिकल अबॉर्शन का ही रास्ता चुनना चाहिए, घरेलू नुस्खा जैसे – जायफल से गर्भपात बिल्कुल भी कारगर नहीं होते तथा इससे गर्भपात भी नहीं होगा, अतः आपको सही तरीके का ही उपयोग करना चाहिए

Hindiram के कुछ शब्द 

जायफल से गर्भपात कैसे करें – देखिए गर्भपात के लिए किसी भी प्रकार का घरेलू नुस्खा अपनाना सही नहीं, इससे गर्भपात तो नहीं लेकिन आपके लिए जानलेवा साबित हो सकता हैं। आप गर्भपात के लिए सही तरीके उपयोग करें

Share on:

Leave a Comment